मछलियां बाहर निकाल साफ किया तालाब

हमीरपुर —मत्स्य आखेट पर प्रतिबंध के बावजूद जहां एक ओर लोग चोरी छिपे अपनी जीभ का स्वाद पूरा करने के लिए मछलियों को मार रहे हैं, वहीं कुछ ऐसे जीव प्रेमी भी हैं जो इनकी हिफाजत और इनके भविष्य को लेकर फिक्रमंद हैं। ऐसे ही जीव प्रेमियों में एक नाम है रसील सिंह मनकोटिया का। रसील सिंह मनकोटिया ठाकुरद्वारा गोशाला समिति जामली के संस्थापक हैं। हमीरपुर से करीब दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित जामली धाम में जहां लावारिस गउओं को आसरा दिया जाता है वहीं, गोशाला के परिसर में बनाए गए तालाब में मछलियों के लिए एक तालाब बनाया गया है। यहां साथ में एक मंदिर है और लोग अकसर मछलियों को आटा डालने के लिए यहां आते हैं। 45 फुट लंबे, 30 फुट चौड़े और छह फुट गहरे इस तालाब में काफी गाद भर गई थी। ऐसे में मछलियों के लिए खतरा पैदा हो गया था। मनकोटिया के आग्रह पर शनिवार को होमगार्ड की दसवीं वाहन के करीब 20 जवान कमांडेंट मेजर सुशील कुमार कौंडल के नेतृत्व में यहां पहुंचे। तालाब में चार से पांच किलोग्राम की करीब 150 मछलियां थीं। ऐसे में मछलियों को तालाब से निकाले बगैर सफाई कर पाना मुश्किल था। इसलिए मछलियों के लिए साथ बहते एक नाले में छोटा सा टैंक तैयार किया गया और फिर तालाब से निकालकर एक-एक मछली को बड़ी सावधानी से टैंक में डाला गया। उसके बाद होमगार्ड के जवानों और कमेटी के लोगों ने तालाब की सफाई की और उसे खाली करने केे बाद उसमें फिर से साफ पानी भरा गया और मछलियों को टैंक से निकालकर तालाब में डाला गया। मनकोटिया ने बताया कि वह हर साल तालाब की सफाई करवाते हैं।

ये बने पुनीत कार्य का हिस्सा

मछलियों के तालाब की सफाई करने वालों में होमगार्ड के जवान अशोक रांगड़ा, प्रवीण कुमार, पीसी राज कटोच, हवलदार रवि कुमार, रमेश चंद, ध्यान सिंह, ईश्वर चंद अशोक कुमार, रवि कुमार, दिनेश कुमार, सुरेंद्र कुमार, सन्नी कुमार, कुलदीप कुमार, राकेश कुमार, रजत ठाकुर तथा गौशाला कमेटी के सदस्य रसील सिंह मनकोटिया, बालक राम, प्रदीप कुमार, राजेश बब्बू, संजीव शर्मा, विपिन कुमार और विपिन कानूनगो आदि मौजूद रहे। आसपास के लोगों ने होमगार्ड के जवानों के इस प्रयास की काफी सराहना की।

You might also like