मडग्रां में बनेगा नेचर पार्क

मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय का खुलासा, अधिकारियों को औपचारिकताएं पूरी करने के दिए निर्देश

मनाली—कृषि, सूचना प्रौधोगिकी एवं जनजातीय विकास मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने सिंचाई एवं जन स्वाथ्य विभाग लाहुल के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिला में सिंचाई व पेयजल योजनाएं बनाने से पहले स्थानीय लोगों को विश्वास में लें, ताकि निर्माणाधीन योजना समय पर पूर्ण हो सके। उन्होंने कहा कि लाहुल मंडल में विभिन्न पेयजल एवं सिंचाई योजनाओं पर 16 करोड़ रुपए का बजट का प्रावधान करवाया गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह निर्माणाधीन योजनाओं को समयवद्व ढं़ग से पूरा करें तथा गुणवत्ता का विषेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि घाटी के प्रत्येक व्यक्ति को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध हो तथा किसान के हर खेत तक पानी पहुंचे यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 338 करोड़ रुपए से प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना आरंभ की जा रही है, जिसमें 111 लघु सिंचाई योजना तैयार की जाएंगी, जिससे प्रदेश की 17880 हेक्टयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी। मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने लोक निमार्ण विभाग के अधिकारियों के साथ भी लाहुल घाटी के चिनाव मंड़ल में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लाहुल में कम समय कार्य अवधि होने के चलते शुरू किए गए विकास कार्यों को समय पर पूरा करें ताकि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इन का लाभ मिल सके। उन्होंने उदयपुर में साडा एरिया विकास कार्यों की समीक्षा बैठक भी की। उन्होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि शहर को साफ-सुथरा रखने के लिए हर संभव प्रयास करें। उन्होेनंे मडग्रां के पास नेचर-पार्क स्थापित करने के लिए सभी आवश्यक औपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि उदयपुर में चार सीसीटीवी कैमरा स्थापित किए गए हैं। उन्होंने उदयपुर बाजार में दो ओर सीसीटीवी कैमरा लगवानें के लिए भी निर्देश दिए।

You might also like