मढ़ी-कोकसर रेस्क्यू चैक पोस्टें क्लोज

कुल्लू—जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के लोगों को आपात स्थिति में सहायता प्रदान करने के लिए मढ़ी और कोकसर में स्थापित की गई रेस्क्यू पोस्टें क्लोज कर दी गई हैं। अब ट्रैफिक जाम से नियंत्रण करने के लिए दोनों तरफ पुलिस पोस्टें स्थापित रहेगी। रेस्क्यू पोस्टें अब आमागी दिसंबर महीने में ही स्थापित होगी। 25 से 30 फुट  बर्फ में रेस्क्यू पोस्ट में तैनात कर्मचारियों ने मनाली से केलांग और केलांग से पैदल मनाली पैदल आ रहे लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए फरिशता बने। दोनों चैकपोस्ट के कर्मचारियों हाड कंपा देने वाली ठंड के बीच पूरे दो महीने लोगों को बेहतरीन सेवाएं दी। शुक्रवार को आधिकारिक तौर पर चैकपोस्ट को क्लोज कर दिया गया है। चैक पोस्ट में तैनात कर्मचारियों ने जहां बर्फ में पैदल चलने वाले लोगों को दिक्कत आने पर तुरंत मौके पर जाकर रेस्क्यू कर सहायता प्रदान की। वहीं, पिछले कुछ दिनों में बर्फ में फंसे वाहनों समेत यात्रियों को भी सुरक्षित निकालने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की।  बता दें कि इस बार रिकार्ड तोड़ बर्फ में रेस्क्यू टीम ने लोगों को सेवाएं प्रदान की। बता दें कि पैदल चल रहे लोगों को चोटें तथा अचानक बीमार होने पर तुरंत मेडिकल सुविधा भी प्रदान की गई। जानकारी के अनुसार इस बार लगभग 2800 करीब जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के लोगों ने रोहतांग दर्रे को पैदल आरपार किया। मनाली की तरफ से लाहुल के लिए लगभग 1600 और लाहुल से मनाली की ओर करीब 1200 लोगों ने बर्फीले रोहतांग दर्रा को आरपार किया है। मढ़ी और कोकसर में तैनात टीम रेस्क्यू टीम ने दोनों तरफ मोर्चा संभालने हुए कई लोगों को सहायता प्रदान की गई। बता दें कि हर वर्ष चार से पांच महीने रेस्क्यू टीमें लोगों को आपात स्थिति में सहायता प्रदान करने के लिए तैनात की जाती है। जहां मार्च,अपै्रल, मई में पहले सत्र में मढ़ी और कोकसर में चैक पोस्टें स्थापित की जाएगी। वहीं, दूसरे सत्र में सर्दियों में नवंबर और दिसंबर में भी पोस्टें स्थापित की जाती है।

You might also like