मनाली-लेह रोड आठ महीने बाद बहाल

कारोबारी चहके, बीआरओ की तीन महीने की मशक्कत के बाद दौड़ी गाडि़यां

 मनाली —लंबे इंतजार के बाद मनाली-लेह मार्ग सोमवार को बहाल हो गया है। आठ महीने बाद इस सड़क पर गाडि़यां दौड़ते ही जहां लाहुल-स्पीति में समर सीजन का भी आगाज हो गया है, वहीं घाटी के पर्यटन करोबारी भी खासे खुश हैं। सोमवार को मनाली की तरफ से जहां बीआरओ के वाहनों को लेह की तरफ भेजा गया, वहीं लेह की तरफ से भी वाहन मनाली पहुंचे हैं। बीआरओ के लेफ्टिनेंट कर्नल उमा शंकर ने बताया कि सोमवार को अधिकारिक तौर पर मनाली-लेह मार्ग बहाल कर दिया है। प्रशासन को भी इसकी सूचना दे दी गई है। मनाली-लेह मार्ग आठ महीने से जहां बंद था, वहीं बीआरओ ने करीब तीन महीने की कड़ी मश्क्कत कर मार्ग बहाल किया है। मनाली-लेह मार्ग के बहाल होते ही जहां लाहुल-स्पीति का पर्यटन करोबार रफ्तार पकड़ेगा, वहीं सैलानियों से भी लाहुल-स्पीति की घाटियां गुलजार होंगी। मनाली की तरफ से भी लेह जाने का दौर शुरू हो गया है। हलांकि एचआरटीसी की बस सेवा इस रूट पर अभी शुरू नहीं हो पाई है। एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगलचंद मनेपा का कहना है कि निगम के अधिकारी लाहुल-स्पीति प्रशासन के साथ मिलकर जल्द ही सड़क का निरीक्षण करेंगे और मनाली-लेह रूट पर बस सेवा शुरू करेंगे। लाहुल-स्पीति के अन्य रूटों पर जहां एचआरटीसी की बसें दौड़ा दी गई हैं, वहीं जल्द ही मनाली-लेह रूट पर भी निगम की बस दौड़ती नजर आएगी। सोमवार को बीआरओ के वाहन जहां लेह की तरफ भेजे गए, वहीं लेह की तरफ से भी वाहन मनाली पहुंचे हैं। इसके अलावा बीआरओ ने मनाली-लेह सड़क के बहाल होने पर एक कार्यक्रम भी आयोजित किया है। देश-विदेश के सैलानी भी अब यहां सुहाने सफर का आनंद उठा सकेंगे।

12 गाडि़यां मनाली पहुंचीं

सोमवार को मनाली-लेह मार्ग बहाल होते ही लेह की तरफ से 12 गाडि़यां मनाली पहुंची हैं। ये सभी गाडि़यां टैक्सियां हैं और इनके मनाली पहुंचते ही सड़क पर गाडि़यों के दौड़ने का दौर भी शुरू हो गया है। इसके अलावा कुछ सेना के वाहन भी लेह से मनाली पहुंचे हैं और बीआरओ के वाहन भी लेह की तरफ गए हैं।

You might also like