मनीमाजरा के पार्कों में अवैध कब्जे

किसी ने बनाई कबाड़ी की दुकान, तो कोई कर रहा मैदान में मनमाना निर्माण

मनीमाजरा -चंडीगढ़ नगर निगम द्वारा बच्चों के खेलने के लिए शहर में सैकड़ों पार्क बनाए गए हैं, ताकि इन पार्कों में बच्चे-बुजुर्ग -महिलाएं पकृति का मजा ले सकें। इसके अलावा वे यहां पर शाम के समय घूमने, खेलने का भी मजा ले सकें, परंतु चंडीगढ़ नगर निगम की डीलडोल वाली नीति के कारण लोगों ने इन पार्कों में अवैध कब्जे जमाए हुए हैं। हैरानी की बात यह है कि इन लोगों को रोकने टोकने की जहमत आज तक किसी ने नहीं उठाई। कुछ लोगों ने तो पार्कों में अवैध निर्माण शुरू कर दिए है, इसके बावजूद इन लोगों को रोकने टोकने वाला कोई नहीं है स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर निगम के अधिकारी राजनीतिक दबाव में आकर कब्जा करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं करते, यही कारण है कि लोग आज अपनी मनमानी कर रहे हैं । कुछ लोगों ने तो पार्कों में अपना कबाड़ी का कारोबार करना शुरू कर दिया। इन दिनों यह पार्क किसी कबाड़ी की दुकान से कम नहीं है, यही बस नहीं कुछ शरारती तत्वों ने पार्क में लगे झूलों को भी बेच दिया।  लोगों का कहना है कि उन्होंने इसकी शिकायत अनेक बार विभागीय अधिकारियों को की, परंतु आज तक इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकला और न की किसी दोषी के खिलाफ  कोई कार्रवाई की गई। उन्होंने प्रशासन से मांग उठाई है कि वे इन पार्कों को अवैध निमार्णों से बचाएं, ताकि लोग इनका सही उपयोग कर सकें। इसके अलावा उन्होंने दोषियों पर कार्रवाई की भी मांग उठाई है। उन्होंने कहा है कि प्रशासन अवैध कब्जा करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें, ताकि लोग प्रशासन द्वारा दी जा रही इन सुविधाओं का पूरा फायदा उठा सकें। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे पार्क लोगों की सहूलियतों के लिए बनाएं जाते हैं, ताकि वे सुबह-शाम के समय इनमें टहल सकें व प्रकृति का आंनद ले सकें। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की वजह से ये सारी चीजें अवैध कारोबारियों की भेंट चढ़ रही हैं।

You might also like