ममता ने मानी मांगें, डाक्टरों की हड़ताल खत्म

बैठक में फैसला, हर अस्पताल में तैनात होगा पुलिस अफसर

 कोलकाता -पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध में हड़ताल पर गए डाक्टरों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बैठक के बाद सप्ताहभर से चली आ रही अपनी हड़ताल समाप्त कर दी है। इससे पहले प्रदेश के चिकित्सकों से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा को हर अस्पताल में एक नोडल पुलिस अफसर की तैनाती के निर्देश दिए। इसके अलावा चिकित्सकों की मांग पर हर सरकारी अस्पताल में एक शिकायत निवारण सेल बनाने का निर्णय भी लिया गया है। सोमवार को सीएम के साथ हुई इस बैठक में पश्चिम बंगाल के हर मेडिकल कॉलेज से दो प्रतिनिधि शामिल हुए। कोलकाता में राज्य सचिवालय से सटे एक सभागार में ममता बनर्जी और चिकित्सकों के बीच तमाम गतिरोधों के बाद हुई बैठक में कई बड़े फैसले हुए हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में सभी सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में चिकित्सकों के प्रतिनिधिमंडल ने ममता को मेडिकल कालेजों एवं अस्पतालों में उन्हें आ रही समस्याओं से अवगत कराया। पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य सचिव एमओएस चंद्रिमा भट्टाचार्य और राज्य के अन्य अधिकारियों के अलावा 31 जूनियर डाक्टर इस बैठक में मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने हड़ताली डाक्टरों से कहा कि राज्य सरकार ने किसी भी डाक्टर के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया है। ममता सरकार ने मीडिया को भी इस बैठक की लाइव कवरेज की अनुमति दी थी। बंगाल में राज्य सचिवालय के बगल में स्थित एक सभागार में इस बैठक का कार्यक्रम निर्धारित किया गया था। पूर्व में डाक्टरों ने ममता बनर्जी से बातचीत पर सहमति जताई थी, लेकिन उनका कहना था कि यह बात बंद कमरे में नहीं, बल्कि मीडिया कैमरों के सामने होगी।

You might also like