मरीजों पर भारी डाक्टर्ज की हड़ताल

खनेरी अस्पताल में डाक्टरों की रही दो घंटे की पेन डाउन स्ट्राइक; मरीज होते रहे बेहाल, ओपीडी के बाहर लगी लंबी कतारें

रामपुर बुशहर -मंडी जिला के थाची में महिला डाक्टर से छेड़छाड़ और मारपीट के मामले में खनेरी अस्पताल के डाक्टरों ने भी गहरा रोष व्यक्त किया। इस मामले के विरोध में रामपुर के महात्मा गांधी चिकित्सा सेवाएं परिसर खनेरी व रामपुर, ननखड़ी स्वास्थ्य खंडों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी दो घंटे की पेन डाउन स्ट्राइक प्रदेश चिकित्सक संघ के आवाहन पर रखी गई। खनेरी अस्पताल में डाक्टरों ने दो घंटे देरी से करीब 12 बजे अपनी ओपीडी में कदम रखा। इस दौरान ओपीडी के आगे मरीजों की लंबी कतारें देखी गई। हालांकि हड़ताल के दौरान आपातकालीन सेवाओं को बहाल रखा गया, गंभीर रूप से पीडि़तों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई गई। हिमाचल चिकित्सक संघ के रामपुर इकाई अध्यक्ष डा. गुमान नेगी ने कहा कि थाची अस्पताल में महिला डाक्टर से छेड़छाड़ व मारपीट करने वाले आरोपी को जल्द सलाखों के पीछे नहीं किया गया तो हड़ताल की अवधि बढ़ती रहेगी ऐसा प्रदेश संघ ने निर्णय लिया है। प्रदेश में चिकित्सकों के साथ हो रहे अभद्र व्यवहार व लगातार हो रहे हमलों से चिकित्सक समुदाय चिंतित है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में डाक्टर सुबह से शाम तक अपनी सेवाएं देते आ रहे है बावजूद इसके कई बार मरीज व तीमारदार डाक्टरों के साथ बदसलूकी व मारपीट तक कर देते है। जिससे डाक्टर आज के समय में खुद को सुरक्षित नहीं समझ रहे है। संघ ने सरकार से मांग है कि डाक्टरों की सुरक्षा का सरकार वादा करे।

You might also like