महाराणा प्रताप स्कूल की रखी नींव

धर्मागिरि पठियार पहुंचे सीएम ने किया 12 करोड़ की लागत से बनने इंटरनेशनल स्कूल का शिलान्यास

चामुंडा —महाराणा प्रताप की 480वीं जयंती के समारोह पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर श्री चामुंडा मंदिर के साथ लगते गांव धर्मागिरी पठियार में पहुंचे। यहां पहुंचने पर राजपूत कल्याण सभा के अध्यक्ष कुलदीप ठाकुर, मुख्य सलाहकार टेक चंद राणा तथा सभा के अन्य पदाधिकारियों ने फूलमालाओं से उनका स्वागत किया, वहीं 12 करोड़ की लागत से बनने वाले महाराणा प्रताप इंटरनेशनल स्कूल का शिलान्यास किया। वहीं, उपस्थित समूह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराणा प्रताप ने समाज के कल्याण के  लिए प्रयत्न किया, जिनका  समाज के लिए महत्त्वपूर्ण योगदान है। जीवन की इस भागदौड़़ में हम ऐसे देश के महान नाइकों को भूलते जा रहे हैं, जिन्हें याद करने के लिए हमारे पास समय नहीं है, परंतु हमें उनके जीवन से प्रेरणा लेकर एक नहीं हजारों बातें सीखनी है। उन्होंने अपने जीवन में कभी भी अपने आदर्शों से समझौता नहीं किया, जिसके लिए उनको घर बार छोड़कर जंगलों में भी रहना पड़ा और खाने की जगह घास का कर जिंदा रहे, वहीं 50 कनाल भूमि राजपूत सभा के लिए दान करने पर महंत धर्मागिरी महाराज का धन्यवाद किया, जिसके लिए समाज उन्हें सदा उनका ऋणी रहेगा उनको याद करता रहेगा। उन्होंने महाराणा प्रताप की जयंती पर हर साल छुट्टी करने का ऐलान किया बहीं सभा के अध्यक्ष कुलदीप ठाकुर ने कुछ मांगे रखी, जिसकी मुख्यमंत्री ने पूर्ति करते हुए  कहा कि जो 8000 मीटर सड़क चौड़ी करनी है, उसके लिए विभाग 51 लाख तक एस्टीमेट बना कर लाए और सरकार के पास दे सरकार आपके साथ पूरा सहयोग करेगी, वहीं जयराम ठाकुर ने 31 लाख रुपए स्कूल को अलग से अलग से देने का आश्वासन दिया। इस मौके पर महाराणा प्रताप के ऊपर एक स्मारिका का विमोचन भी किया।

You might also like