महिला पुलिस कर्मी ही सुनेंगी शिकायतें

 ऊना—करीब एक साल पहले ऊना मुख्यालय में खुले महिला थाना में महिलाएं अब बेजिझक पहुंच रही हैं, क्योंकि यहां पर इनकी शिकायत कोई पुरुष पुलिस कर्मी नहीं बल्कि महिला थाना में तैनात महिला पुलिस कर्मी ही सुनेंगी। जहां पर कोई भी महिला आसानी से अपनी शिकायत खुलकर पुलिस प्रशासन के पास रख सकती हैं। हालांकि पहले भी ऊना पुलिस की ओर से महिलाओं की शिकायतें सुननें के लिए वूमन सैल गठित किया था। इसमें भी महिलाएं अपनी शिकायतें लेकर पहुंचती थी, लेकिन महिला थाना खुलने के बाद महिलाओं को पहले की अपेक्षा बेहतर सुविधा मिलना शुरू हो गई हैं। यहां पर महिला पुलिस कर्मियों द्वारा ही महिलाओं की शिकायतें सुनी जा रही हैं। ऊना महिला थाना में महिलाओं से संबंधित दहेज प्रताड़ना, दुष्कर्म मामले या फिर छेड़छाड़ के अलावा घरेलू विवाद के मामले पहुंच रहे हैं। जिन्हें महिला थाना की ओर से सुलझाया जा रहा है। जो मामले अनसुलझे बन रहे हैं, उन्हें सुलझाने के लिए फिर पुलिस के पास एफआईआर दर्ज करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। इसके चलते महिला थाना में तैनात पुलिस कर्मियों की ओर से एफआईआर भी की जा रही है। जिला ऊना के मुख्यालय पर महिला पुलिस थाना ने करीब एक साल पहले कार्य करना शुरू किया। महिला थाना शुरू होने के चलते यहां पर महिलाएं अपनी शिकायत लेकर भी पहुंच रही हैं। हालांकि अभी तक अस्थायी तौर पर महिला थाना को अस्थायी तौर पर किराए के भवन में ही चलाया जा रहा है। महिला थाना के अपने भवन के लिए लालसिंगी में जमीन भी चिन्हित की गई है। जल्द ही यहां पर निर्माण कार्य भी शुरू होगा। वहीं, बात यदि वर्ष 2017 की करें तो वूमन सैल के पास 306 शिकायतें आई थी। वहीं, वर्ष 2018 में महिला थाना शुरू होने के चलते करीब 800 शिकायतें महिला थाना के पास पहुंची हैं। इनमें से 27 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। इसके अलावा वर्तमान वर्ष 2019 में अब तक तीन मामले दर्ज किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि महिलाओं पर घरेलू हिंसा सहित अन्य मामले सामने आते हैं। इसके चलते महिलाओं को अपनी शिकायत थाना में दर्ज करवानी पड़ती थी। इस दौरान महिलाओं की शिकायतें थाना में तैनात कर्मचारी सुनते थे। वहीं, महिला के हितों को ध्यान में रखते हुए प्रारंभिक दृष्टि में पुलिस प्रशासन की ओर से वूमन सैल की शुरुआत की गई। इसके चलते महिलाओं को वूमन सैल में अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए कोई समस्या नहीं झेलनी पड़ी, लेकिन सरकार की ओर से अब ऊना जिला मुख्यालय पर महिला थाना स्थापित किया गया है। वहीं, पुलिस प्रशासन द्वारा महिला थाने की आगामी कार्य की प्रक्रिया को सिरे चढ़ाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इसके चलते शुरुआती दौर में अस्थायी तौर पर महिला थाना किराये के भवन में चलाया जा रहा है। बहरहाल, महिला थाना शुरू होने के चलते जिला की महिलाओं को इसका लाभ मिल रहा है। वहीं, पुलिस अधीक्षक ऊना दिवाकर शर्मा जिला मुख्यालय पर महिला थाना स्थापित किया गया है। महिला स्टाफ की तैनाती भी थाना में गई है। कई शिकायतें महिलाओं की महिला थाना में पहुंच रही हैं। शुरुआती चरण में महिला थाना को अस्थायी तौर पर किराए के भवन में चलाया जा रहा है। जल्द ही महिला थाने को अपना भवन भी नसीब होगा। इसके लिए प्रक्रिया की गई है।

You might also like