महीने में दो बार साफ करें पानी की टंकियां

कांगड़ा—सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को परोसे जाने वाले दोपहर के भोजन में प्रयोग होने वाले पेयजल की जांच स्कूल प्रशासन को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।  स्कूलों में रखी गई पानी की टंकियों की हर माह कम से कम दो बार सफाई करनी होगी तथा इसका टाइम तथा तिथि भी पानी की टंकियों अथवा स्कूल के सूचना बोर्ड पर अंकित करना भी आवश्यक होगा। जिला कांगड़ा के सभी स्कूल मुखियाआें को इस बारे उच्च शिक्षा उपनिदेशक द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।  भारी बारिश तथा बरसात के मौसम में फैलने वाले जलजनित रोगों की संभावनाआें को देखते हुए शिक्षा विभाग ने एहतियात के तौर पर सुरक्षा उपायों को बरतने के निर्देश स्कूलों को जारी किए हैं।  इसमें स्कूलों को निर्देश दिए गए हैँ कि स्कूलों में विद्यार्थियों के लिए पकने वाले दोपहर के भोजन में प्रयोग होने वाले जल का प्रयोग सरकार द्वारा अधिकृत एवं प्रमाणित जल आपूर्ति स्त्रोतों के पानी का ही प्रयोग करें। इसके अलावा प्रत्येक पाठशाला की स्कूल प्रबंधन समिति, सभी अध्यापक तथा पाठशालाआें में कार्यरत्त मिड-डे मील वर्कर्ज पीने के पानी की टंकियों की माह में कम से कम दो बार सफाई करना सुनिश्चित करें तथा इसकी पूरी जानकारी भी अंकित करें। साथ ही स्कूल की रसोई तथा खाद्य पदार्थों के भंडारण वाले स्थान में कीटों के संक्रमण को रोकने के लिए कीटनाशकों का प्रयोग न करें। इस संक्रमण को रोकने के लिए प्राकृतिक उपायों का प्रयोग करें। साथ ही कच्चे खाद्यान्न के भंडारण के लिए पाठशाला में खाद्य ग्रेड प्लास्टिक भंडारण कंटेनर का प्रयोग किया जाए।  इसके अलावा एहतियात के तौर पर खाना पकाने वाले कूकर की जांच तथा प्रयोग न होने वाले गैस सिलेंडर रेगुलेटर को बंद होना सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं। जिससे कि स्कूलों में किसी प्रकार की अनहोनी घटना की संभावना न बने।

You might also like