माक्खन खड्ड में मछलियों के मरने से लोग परेशान

डंगार चौक। रोपड़ी गांव के साथ लगती माक्कन खड्ड में मछलियां मरने का सिलसिला लगातार जारी है। खड्ड में ठहरे हुए पानी में करीब एक सप्ताह से मछलियां मर रही हैं। इस खड्ड पर क्षेत्र की बहुत सी पेयजल योजनाएं बनी हुई हैं। लोगों में डर है कि दूषित पानी से लोगों की जानमाल को भी खतरा हो सकता है। खड्ड में पानी कम होने से सैंकड़ों मछलियों की मौत हो गई है। पिछले एक माह से मछलियों का मरने का सिलसिला लगातार जारी है। पेयजल योजना के लिए दोनों ओर चैकडैम बनाए गए हैं लिहाजा पानी के दूषित होने और पेयजल योजना के पानी से मिलने के बाद बड़ी परेशानी पैदा हो सकती है। लोगों का मानना है कि बारिश न होने की वजह से खड्ड का अधिकांश हिस्सा सूख चुका है। ऐसे में बचे हुए पानी को भी ऊठाउ पेयजल योजना द्वारा उठा लिया जा रहा है। इससे पानी का स्तर निम्न होता जा रहा है। खड्ड के आसपास के घरों से भी गंदा पानी व कूड़ा-कर्कट से कारण भी मछलियों की मौत हो रही है। गांववासियों ने बताया कि खड्ड बने चैकडैम की वजह से पानी का बहाव रूक गया है। उधर, सिंचाई एवं जन सवास्थ्य विभाग के आधिशाषी अभियंता सतीश शर्मा ने बताया कि मुझे खड्ड मे मर रही मछलियों के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं है इसके बारे में मुझे मीडिया से पत्ता चला है व शीघ्र ही इसका समाधान किया जाएगा।

You might also like