मानसून सीजन का आगाज सुस्त

इस बार 23.2 मिमी की तुलना में 11 जून तक केवल 8.3 मिमी बरसे मेघ

पालमपुर – प्रदेश में मानसून आने में अभी कुछ दिन का समय है,लेकिन इस साल प्रदेश में मानसून सीजन का आगाज भी सुस्त रहा है। पहली जून से शुरू हुए मानसून सीजन में अब तक प्रदेश में सामान्य से 64 प्रतिशत कम बारिश हुई है। प्रदेश का एक भी जिला मानसून सीजन में औसत बारिश के करीब तक नहीं पहुंच पाया है। मंगलवार सुबह कुछ स्थानों पर हुई बारिश भी गर्मी से निजात नहीं दिलवा पाई है।  जानकारी के अनुसार मानसून सीजन में 11 जून तक प्रदेश में औसत बारिश का आंकड़ा 23.2 मिमी रहता है, जबकि इस वर्ष अब तक बारिश का ग्राफ दहाई की संख्या को भी नहीं छू पाया है। 11 जून तक प्रदेश भर में मात्र 8.3 मिमी बारिश दर्ज की गई है, जो कि सामान्य से 15 मिमी कम है। इस बार मानसून सीजन में अब तक सबसे अधिक 15.2 मिमी बारिश जिला चंबा में दर्ज की गई है, लेकिन यह भी सामान्य 28 मिमी की तुलना में 46 प्रतिशत कम है। जिला मंडी में 34.7 मिमी के मुकाबले अब तक मात्र 13.8 मिमी मेघ बरसे हैं,जोकि औसत से 60 फीसद कम हैं। मंगलवार सुबह धर्मशाला व पालमपुर सहित कुछ जगहों पर हुई छिटपुट बारिश के बावजूद जिला कांगड़ा में अब तक 12.7 मिमी बारिश दर्ज हुई है, जो कि औसत 30.5 मिमी की तुलना में 58 प्रतिशत कम है। जिला कुल्लू में 12.6 मिमी बारिश का आंकड़ा सामान्य 23.2 मिमी के ग्राफ  से 46 प्रतिशत पीछे चल रहा है। जिला सोलन में तो 11 जून तक औसत से 89 प्रतिशत कम बारिश हुई है। यहां अब तक सामान्य बारिश का आंकड़ा 30.5 मिमी रहता है, जबकि इस वर्ष केवल 3.4 मिमी बारिश दर्ज हुई है।

सात जिलों में 10 मिलीमीटर से भी कम बारिश

हिमाचल प्रदेश के सात जिलों में 11 जून तक बारिश का आंकड़ा दस मिमी से कम रहा है। 11 जून तक जिला शिमला में 7.7 मिमी, जिला हमीरपुर में सात मिमी, जिला सिरमौर में 6.5 मिमी, जिला ऊना में 5.9 मिमी, जिला बिलासपुर में 5.7 मिमी, जिला सोलन में 3.4 मिमी और जिला लाहुल-स्पीति में 2.5 मिमी बारिश दर्ज हुई है।

 

You might also like