मानसून सीजन…हर आपदा को रहें अलर्ट

उपायुक्त ने राहत-बचाव की तैयारियों को लेकर सभी अधिकारियों को दिए आदेश, नदी-नालों के किनारे रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाएं

 हमीरपुर—आगामी बरसात के मौसम में संभावित आपदाओं से राहत व बचाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए बैठक का आयोजन हमीर भवन में उपायुक्त हरिकेश मीणा की अध्यक्षता में किया गया। इसमें पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन, सहायक आयुक्त सुनयना शर्मा, सभी उपमंडलाधिकारी (ना) सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। उपायुक्त ने कहा कि बरसात के मौसम में बाढ़, बादल फटने व भू-स्खलन इत्यादि की घटनाओं से बचाव के लिए जिला में आवश्यक प्रबंध किए गए हैं। मौसम विभाग द्वारा मौसम पूर्वानुमान के बारे में जारी चेतावनी व परामर्श सभी संबंधितों को तत्काल पहुंचाने की व्यवस्था की गई है और विशेष तौर पर नदी-नालों के किनारे रहने वालों को समय पर चेतावनी जारी कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए सभी विभाग आपसी समन्वय से कार्य करें। उन्होंने लोक निर्माण विभाग, स्थानीय निकायों व पंचायतीराज विभाग से आग्रह किया कि बरसात से पूर्व नालियों, चैनल व नालों से बारिश के पानी का निर्बाध बहाव सुनिश्चित करने के लिए अभियान चलाएं। भू-स्खलन के लिए संवेदनशील स्थानों की पहचान कर सड़कों व रास्तों से मलबा इत्यादि हटाने के लिए आवश्यक मशीनरी व मानव संसाधन समय रहते चिन्हित कर लें। आपात स्थिति में दवाओं, खाद्य सामग्री सहित सभी आवश्यक वस्तुओं का समुचित भंडारण सुनिश्चित करें। स्वच्छ पेयजल आपूर्ति के लिए भी समय रहते कदम उठाएं। उन्होंने कहा कि जिला में राहत व बचाव दलों का गठन कर लिया गया है और आवश्यकता पड़ने पर केंद्रीय राहत दलों से भी सहायता के लिए त्वरित समन्वय स्थापित करने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि किसी भी आपात स्थिति में सूचना के आदान-प्रदान के लिए जिला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। इसके अतिरिक्त बैठक में आपदा की स्थिति में मरम्मत व पुनःस्थापन, जिला आपदा प्रबंधन योजना, नुकसान के आकलन, राहत आबंटन सहित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई।

You might also like