मानसून से पहले आपदा प्रबंधन पर बैठक

रामपुर बुशहर—मानसून सीजन शुरू होने से पूर्व उपमंलाधिकारी कार्यालय में आपदा प्रबंधन पर विशेष बैठक का आयोजन किया गया। बैठक  की अध्यक्षता उपमंडलाधिकारी रामपुर नरेंद्र चौहान ने की। इस दौरान सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। उपमंडाधिकारी ने मौजूद सभी अधिकारियों को मानसून सीजन में पेश आने वाली किसी भी आपदा से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए। चौहान ने कहा कि पहाड़ी क्षेत्र होने के चलते बरसात का सबसे अधिक असर यहां की सड़कों पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि भारी बरसात से कई सड़कें बदहाल हो जाती हैं तो कही भूस्ख्लन से सड़के अवरूद्ध हो जाती है। ऐसे में उन्होंने लोक निर्माण विभाग को सड़के तुरंत बहाल करने के लिए विशेष प्रबंध करने की हिदायत दी। ताकि लोगों को आवागमन में परेशानी पेश न आए। उन्होंने कहा कि कुछ ही समय में सेब सीजन भी शुरू होने वाला है इसको देखते हुए भी उन्होंने बदहाल पड़ी ग्रामीण सड़को को ठीक करने के भी विभाग को निर्देष दिये। उपमंडाधिकारी ने कहा कि मानसून के दौरान लोगों को स्वच्छ पानी मिले इसके लिए आईपीएच विभाग को पाइप लाइनों के रख रखाव व प्रोपर क्लोरिनेशन करने की हिदायत दी गई। बरसात के दौरान डेंग्यू और डायरिया आदि कि बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को चौकन्ना रहने की जरूरत है साथ ही इस बारे लोगों को जागरूक करने के लिए गावों में जागरूकता शिविर लगाने के निर्देश  दिए गए। बैठक में मौजूद विभागीय अधिकारियों ने प्रशासन को विश्वास दिलाया कि मानसून सीजन के दौरान उनकी तैयारियां चाक चौबंद हैं तथा किसी भी आपदा से निपटने के लिए उनकी ओर से पूरी तैयारियां की जाएगी। इस दौरान पीडब्ल्यूडी, आईपीएच, विद्युत, स्वास्थ्य व अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

You might also like