मारपीट के खिलाफ टांडा में डाक्टरों का धरना

पश्चिम बंगाल में रेजीडेंट डाक्टर्स के साथ बदसलूकी पर चिकित्सकों ने काले बिल्ले लगाकर किया विरोध

टांडा—पश्चिम बंगाल में रेजीडंेट डाक्टर्स के साथ मारपीट के मामले में देश भर में सड़कांे पर उतरे चिकित्सकांे का आंदोलन का असर हिमाचल के डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा में भी देखने को मिला। चिकित्सकांे के साथ मारपीट के मामलांे पर सख्त कानून बनाने तथा सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग को लेकर टीएमसी के आरडीए चिकित्सकांे ने सांकेतिक धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान चिकित्सकांे द्वारा मरीजांे को चिकित्सा के लिए परेशान नहीं किया गया। शुक्रवार सुबह चिकित्सकांे ने टीएमसी के सुपर स्पेशयलिटी बिल्डिंग के पास एकत्रित होकर अपना रोष प्रकट किया। इतना ही नहीं, विरोधस्वरूप चिकित्सकांे सहित प्रशिक्षु चिकित्सकांे ने काले बिल्ले लगाकर चिकित्सकांे के साथ होने वाली मारपीट की घटनाआंे पर रोष जताया।  जानकारी के अनुसार शुक्रवार को देश भर में राष्ट्रीय स्तर पर रेजीडंेट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने पश्चिम बंगाल की घटना पर अपना रोष प्रकट करने को लेकर धरना प्रदर्शन करने का आह्वान किया था। जिसके चलते टीएमसी के चिकित्सकांे ने भी इस आंदोलन मंे शामिल होते हुए सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया। टांडा आरडीए प्रेजिडंेट डा. अमित राणा ने बताया कि एसोसिएशन द्वारा अस्पतालांे में चिकित्सकांे ही नहीं बल्कि रात्रि के समय अपनी डयूटी देने वाली नर्स स्टाफ तथा पैरामेडिकल स्टाफ की सुरक्षा को लेकर व्यवस्था दुुरुस्त की जाए। उन्हांेने कहा कि अस्पताल में आने वाले मरीज के साथ दो से अधिक तीमारदार न हांे। साथ ही अस्पताल में रिमोट अलार्म सिस्टम स्थापित किया जाना चाहिए। सीसीटीवी कैमरे एमरजंेसी वार्ड, ओपीडी तथा वार्ड में होने चाहिए। चिकित्सकांे तथा डयूटी पर तैनात स्टाफ के साथ मारपीट करने वाले व्यक्ति के खिलाफ गैर जमानती वारंट हांे तथा उनको कम से कम सात साल की सजा का प्रावधान हो।

स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार को सौंपा मांग पत्र

इस सांकेतिक प्रदर्शन के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन तथा एससीए टांडा के प्रशिक्षु चिकित्सकांे ने रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया,  जिसमें उन्हांेने करीब 60 यूनिट ब्लड डोनेट किया। इसके बाद आरडीए टांडा के अध्यक्ष डा. अमित राणा, आईएमए की नेशनल काउंसिल मेंबर डा. मनीला तथा एससीए के अध्यक्ष डा. मुनीष पंडित सहित अन्य पदाधिकारियांे के प्रतिनिधिमंडल ने डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में उक्त व्यवस्थाआंे को पूरा करने को लेकर अपना मांग पत्र स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार को भी सौंपा, जिस पर स्वास्थ्य मंत्री ने चिकित्सकांे को उचित व्यवस्थाएं करने का आश्वासन दिया है।

You might also like