मिलकर काम करें महकमे

मानसून की तैयारियों को लेकर उपायुक्त कुल्लू ने अधिकारियों के साथ बैठक कर दिए निर्देश

कुल्लू—जिले के किसी भी भाग में किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए सभी विभागों को उपायुक्त तालमेल के साथ एक टीम की तरह कार्य करना चाहिए। आपदा के दौरान क्षति को कम करने तथा राहत व बचाव कार्यों में प्रत्येक विभाग और व्यक्ति का योगदान आवश्यक है। यह बात उपायुक्त ऋचा वर्मा ने सोमवार को आयोजित मानसून पूर्व तैयारियों को लेकर जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला अनेक प्रकार की आपदाओं की दृष्टि से संवेदनशील है और पहले से ही सभी विभागों को आवश्यक ऐहतियाती प्रबंध कर लेने चाहिए।  उपायुक्त ने कहा कि बहुत सारे ऐसे उपाय हैं जो अनेक आपदाओं को आने से रोक सकते हैं। इन छोटे-छोटे उपायों और आपदा प्रबंधन पर संबंधित विभागों को गहन अध्ययन की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मानसून के दौरान ल्हासे गिरना अथवा भू-स्खलन जैसी समस्याएं अधिक रहती हैं। लोक निर्माण विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को सड़कों के आस-पास नालियों व पानी निकासी की समुचित व्यवस्था करनी चाहिए। उन्होंने संबंधित विभागों को आपदा की दृष्टि से जिले के संवेदनशील स्थलों को चिन्हित करके इसकी रिपोर्ट सौंपने को कहा। बैठक की कार्रवाई का संचालन अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अक्षय सूद ने किया।

आपदा की सूचना 1077 पर दें

 उपायुक्त ने कहा कि जिले के किसी भी भाग में किसी भी प्रकार की आपदा की रिपोर्ट तुरंत से टॉल- फ्री नंबर 1077 पर दी जानी चाहिए। हालांकि, जिला में गठित आपदा प्रबंधन के सभी सदस्यों के नंबर भी मौजूद हैं जिन्हें समय-समय पर समाचार पत्रों के माध्यम से भी प्रचारित किया जाता है।

अग्निशमन उपकरणों से लैस हो सभी मुख्य भवन

 उपायुक्त ने कहा कि जिले में सभी सरकारी भवन, स्कूल व अन्य प्रमुख भवनों में फायर उपकरण सही हालत में रहने चाहिए। इनका समय-समय पर ऑडिट किया जाना चाहिए और हितधारकों को इनके संचालन बारे जानकारी प्रदान की जाए।

You might also like