मीटिंग में अपमानित करने पर प्रदर्शन

संयुक्त संघर्ष समिति यमुनानगर ने जताया अधिकारी के व्यवहार पर रोष

पंचकूला – संयुक्त संघर्ष समिति यमुनानगर के बैनर तले हजारों अध्यापकों ने इकट्ठा होकर अतिरिक्त उपायुक्त यमुनानगर द्वारा मीटिंग में कथित अपमानित, दुर्व्यवहार व प्रताडि़त किए जाने के विरोध में प्रदर्शन किया और उपायुक्त यमुनानगर के माध्यम से शिक्षा मंत्री हरियाणा सरकार को ज्ञापन भेजकर मांग की कि उक्त अधिकारी के खिलाफ  आवश्यक कार्रवाई करते हुए तुरंत प्रभाव से यहां से तबादला किया जाए। यह जानकारी आरएस शर्मा  प्राचार्य व हसला जिला प्रधान परमजीत संधू ने पत्रकारों को दी। उन्होंने कहा कि इस घटना से अध्यापकों में भारी रोष है। इस मौके पर भीड़ को संबोधित करते हुए जन शिक्षा अधिकार मंच के राज्य संयोजक जरनैल सिंह सांगवान ने बताया कि ब्लैक शिप, मोटी चमड़ी,  गेट आउट करना, टीचर के लायक नहीं जैसे शब्दों का प्रयोग कर प्रताडि़त करना निंदनीय तो है ही शिक्षक के मनोबल को गिराना भी है, जिससे अध्यापक के लिए पढ़ाना बहुत मुश्किल होगा। अध्यापकों के महासंघ के राज्य प्रधान प्रदीप सरीन ने बताया कि उपायुक्त ज्ञापन लेने नहीं आई। एसडीएम ज्ञापन लेने आया, लेकिन उसका रवैया भी नकारात्मक नजर आया। जिला सचिव शशिकांत व जगपाल सिंह ने बताया कि प्रशासन के नकारात्मक रवैए को देखते हुए संयुक्त संघर्ष समिति ने यह फैसला लिया कि योग रिहर्सल में कल से कोई अध्यापक नहीं जाएगा और 21 जून को भी कोई भी अध्यापक योग दिवस में भाग नहीं लेगा, यदि फिर भी उक्त अधिकारी के खिलाफ  कोई कार्रवाई नहीं होती, तो 26 जून सुबह 9ः00 बजे सचिवालय के सामने इकट्ठा होकर अतिरिक्त उपायुक्त का पुतला फूंका जाएगा, यदि फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई आंदोलन पूरे हरियाणा में फैल जाएगा, जिसकी जिम्मेवारी जिला प्रशासन की होगी। इस मौके पर राकेश धनखड़, गुरमीत सिंह, रविंद्र राणा, कुलवंत सिंह, जगजीत सिंह, मनोज प्रजापति, रामेश्वर बापा, महिपाल चमरौड़ी, यशपाल कांबोज, यशपाल ढांडा, रमेश कुमार, रूपचंद, अशोक कुमार, विनोद त्यागी, पृथ्वी सैणी, राजकुमार, दर्शन लाल, सुरेंद्र नरेश मनीष तंवर, संजय कंबोज, अनिल कंबोज, अलका शर्मा, जसवीर कौर, निर्मल सिंह, कर्मजीत कौर, सुमन गुप्ता, सुनीता समेत प्रिंसिपल समेत कई टीचर मौजूद रहे।

You might also like