मुझे हल्के में न लें कैप्टन

चंडीगढ़। पंजाब में मुख्यमंत्री अमरेंदर सिंह द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू का विभाग बदले जाने के साथ राज्य में पार्टी के भीतर दरार और गहरी हो गई। साथ ही, सिद्धू मंत्रिमंडल की बैठक में भी शामिल नहीं हुए। सिंह और सिद्धू के बीच चल रहे टकराव के बीच तेजी से बदले घटनाक्रम में सिद्धू ने मंत्रिमंडल की बैठक में भाग नहीं लिया और आरोप लगाया कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। शुक्रवार को श्री सिद्धू ने संवाददाताओं से कहा कि मुझे हल्के में नहीं लिया जा सकता। मेरे विभाग पर सार्वजनिक रूप से निशाना साधा जा रहा हैं, मैंने हमेशा उन्हें बड़े भाई की तरह सम्मान दिया है। मैं हमेशा उनकी बात सुनता हूं, लेकिन इससे दुख पहुंचता है। सामूहिक जिम्मेदारी कहां गई? उल्लेखनीय है कि पंजाब कैबिनेट में फेरबदल में श्री सिद्धू से महत्त्वपूर्ण स्थानीय शासन विभाग ले लिया गया और उन्हें बिजली तथा नई एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग का प्रभार दिया गया है।

You might also like