मेहनत की चाबी से खुलते हैं सफलता के ताले

जमा दो कक्षा में अव्वल रहे छात्रों को डीसी ने दिया कामयाबी का मंत्र, लक्ष्य की तरफ रखें ध्यान

चंबा -कड़ा परिश्रम, अडिग लक्ष्य ओर जुनून मुशिकल डगर को भी आसान बना देता है। कड़ी मेहनत की चाबी ही सफलता के ताले खोलती है। बुधवार को जिला मुख्यालय चंबा मंे जमा दो की परीक्षाओं में अव्वल रहे छात्रों के लिए आयोजित किए गए संवाद कार्यक्रम मंे पहुंचे छात्रों को उपायुक्त चंबा विवेक भाटिया ने उपरोक्त मंत्र दिया। उन्होंने छात्रों के जीवन का लक्ष्य निर्धारित कर उसे प्राप्त करने के लिए निरंतर कड़ा परिश्रम करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मेहनत सफलता की कुंजी है। इमानदारी व दृढ़ प्रयास से बड़े से बड़ा लक्ष्य आसानी से हासिल किया जा सकता है। उपायुक्त का कहना है कि शिक्षा में साक्षरता के साथ-साथ गुणात्मकता और नैतिकता का समावेश होना चाहिए। छात्रों को अपनी संस्कृति व समृद्ध इतिहास से जुड़े रहना चाहिए और नैतिकता की भावना से अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ते रहना चाहिए। उन्होंने छात्रों से अपने अनुभव तथा नोट्स अन्य छात्रों से भी सांझा करने की बात कही, ताकि सभी आगे बढ़ सकें और जीवन में सर्वोच्च प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित हो। इस मौके पर विवेक भाटिया ने छात्रों से जीवन का लक्ष्य निर्धारित कर उसे प्राप्त करने के लिए निरंतर कड़ा परिश्रम करने का आह्वन किया। उन्होंने कहा कि मेहनत सफलता की कुंजी है। इमानदारी व दृढ़ प्रयास से बड़े से बड़ा लक्ष्य आसानी से हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शिक्षा में साक्षरता के साथ-साथ गुणात्मकता और नैतिकता का समावेश होना चाहिए। छात्रों को अपनी संस्कृति व समृद्ध इतिहास से जुड़े रहना चाहिए और नैतिकता की भावना से अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ते रहना चाहिए। उन्होंने छात्रों से कहा कि वे अपने अनुभव तथा नोट्स अन्य छात्रों से भी सांझा करें, ताकि सभी आगे बढ़ सकें और जीवन में सर्वोच्च प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित हो। सरकारी तथा निजी स्कूलों के 35 छात्र मौजूद रहे। इनमें 15 छात्र कला संकाय, 14 नॉन मेडिकल चार वाणिज्य और दो छात्र संयुक्त रूप से मेडिकल व नॉन मेडिकल संकाय उपास्थित रहे।

You might also like