मैंने नहीं की मंत्री के खिलाफ शिकायत

 शिमला —सेब के पौधों के फर्जीबाड़े को लेकर बागवानी मंत्री के खिलाफ विजिलेंस को भेजी गई शिकायत फर्जी निकली है। यह शिकायत जुब्बल कोटखाई के बीडीसी वाइस चेयरमैन संदीप सेहटा के नाम से विजिलेंस को भेजी गई थी। हैरानी है कि सामने आए संदीप सेहटा ने इस शिकायत पत्र को फर्जी करार देते हुए छोटा शिमला पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि बागबानी मंत्री के खिलाफ उनके नाम का शिकायत पत्र में प्रयोग किया गया है। सच्चाई यह है कि यह शिकायत किसी फ्रॉड व्यक्ति ने उनके पदनाम से की है। इस कारण संदीप सेहटा ने शिकायत पत्र का हवाला देते हुए आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि संदीप सेहटा के नाम से शिकायत पत्र एडीजी विजिलेंस तथा दैनिक समाचार पत्रों को भेजे गए थे। इस आधार पर ‘दिव्य हिमाचल’ के 31 मई के अंक में ‘बागबानी मंत्री के खिलाफ शिकायत’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित हुआ था। इस प्रकरण के बाद सामने आए जुब्बल कोटखाई ब्लॉक डिवेलपमेंट कमेटी के वाइस चेयरमैन संदीप सेहटा ने उनके नाम से की गई शिकायत से साफ इनकार किया है।

बागबानी मंत्री के खिलाफ ये थे आरोप

विजिलेंस को भेजी गई शिकायत में बागबानी मंत्री पर सेब के पौधों को अपने बागीचे में पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं और सेब के 3200 पौधों को विभाग द्वारा डेड बताए जाने के आरोप हैं। इस मामले में जुब्बल कोटखाई बीडीसी के वाइस चेयरमैन संदीप सेहटा का कहना है कि उन्होंने ऐसी कोई शिकायत नहीं की। किसी व्यक्ति ने उनके नाम से फर्जी शिकायत कर दी है, जिसकी जांच होनी चाहिए।

 

You might also like