मोदी-शाह को 20 लाख कार्ड भेजेंगी दीदी

पश्चिम बंगाल में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच छिड़ी पोस्टकार्ड वार

कोलकाता – पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी और बीजेपी के बीच तल्खी जारी है। जय श्रीराम के नारे के बाद अब मामला पोस्टकार्ड तक पहुंच गया है। बीजेपी ने सूबे की सीएम ममता बनर्जी को दस लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है, जिन पर ‘जय श्रीराम’ लिखा होगा। उधर, टीएमसी ने इस पर पलटवार करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को 20 लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय लिया है, जिस पर ‘जय हिंद, जय बांग्ला’ लिखा होगा। बता दें कि सोमवार को पश्चिम बंगाल से बीजेपी के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने कहा था कि हमने मुख्यमंत्री के आवास पर 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है, जिन पर जय श्रीराम लिखा होगा। श्री सिंह खुद कुछ पोस्टकार्ड पर जय श्रीराम लिखते दिखे थे। बीजेपी को उसके ही हथियार से पलटवार करने की तैयारी में टीएमसी भी जुटी है। पश्चिम बंगाल में खाद्य मंत्री ज्योतिप्रिय मलिक ने बीजेपी के ‘जय श्रीराम’ का जवाब ‘जय हिंद- जय बांग्ला’ से देने का निर्णय किया है। टीएमसी ने ऐसे 20 लाख कार्ड मोदी और शाह को भेजने का निर्णय लिया है। उधर, बीजेपी बंगाल के महासचिव सयंतन बसु कहते हैं कि मैं इस बात को लेकर बहुत आश्चर्यचकित हूं कि आखिर ममताजी को जय श्रीराम के नारे से इतनी दिक्कत क्यों हैं। 1996 में राममंदिर आंदोलन के समय से जय श्रीराम का नारा देश भर में प्रसिद्ध है। इसमें कुछ नया नहीं है। यहां तक कि अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में रहते हुए भी ममता ने कभी इसका विरोध नहीं किया। और हां, हमें जय हिंद से कोई दिक्कत नहीं है। हमारे नेता अकसर भारत माता की जय और जय हिंद के नारे लगाते हैं।

निकाय चुनाव में भी 26-0 से टीएमसी का सफाया

बैरकपुर – लोकसभा चुनावों से शुरू हुई बीजेपी की लहर पश्चिम बंगाल में थमने का नाम नहीं ले रही है। अब नगरीय निकाय के चुनावों में भी बीजेपी ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को झटके पर झटका दे रही है। मंगलवार को भाटपारा के निकाय चुनाव हुए। यहां पर तो बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस का सफाया ही कर दिया। पूरी नगरपालिका में टीएमसी का एक भी उम्मीदवार नहीं जीता। यहां 26 में से 26 उम्मीदवार बीजेपी के जीतकर आए। बीजेपी के नए चेयरमैन सौरव सिंह चुने गए। लोकसभा चुनाव के बाद से ही भाटपारा नगरपालिका पर कब्जे को लेकर बीजेपी और टीएमसी में जमकर उठापटक चल रही थी, लेकिन चुनाव के बाद आए नतीजों में तृणमूल कांग्रेस औंधे मुंह गिरी है। अब तक बीजेपी ने पश्चिम बंगाल कोई भी नगर पालिका पर कब्जा नहीं जमाया है। यह पहली नगर पालिका है, जहां बीजेपी ने कब्जा जमाया है।

You might also like