युवाओं का टशन…बदल डालीं बाइक्स

भोरंज —उपमंडल भोरंज के युवाओं में बाइक मोडिफिकेशन का ट्रेंड चला हुआ है। इसमंे युवा अपनी नई बाइक्स को फैशन के चक्कर में अजीबोगरीब प्रयोग कर रहे हंै। हालांकि जब कंपनी से गाड़ी आती है, तो उससे छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए, अन्यथा वाहनों का चालान हो सकता है। इससे बेखौफ युवा आजकल अपनी बाइक्स से प्रयोगों में मशगूल हैं और कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं। युवाओं में आजकल बाइक की हैडलाइट, इंडिकेटर यहां तक कि आब्जेक्टिव मिरर भी इस तरह के लगा रखे हैं कि जिन्हें देखकर आपको अजीब लगेगा। खासकर हैडलाइट जो कंपनी से लगी होती है, उसे खोलकर गोल सी दिखने वाली हैडलाइट लगा रहे हैं, जिसमंे एक ही बल्ब होता, जो पास के समय लाइट ऊपर-नीचे नहीं करता है और दुर्घटना की आशंका हमेशा बनी रहती है। उसी प्रकार इंडिकेटर भी युवाओं ने ऐसे-ऐसे लगा रखे हैं कि जो वाहन चालकों को तो परेशानी पैदा करते हैं, परंतु सड़क के किनारे चले लोगों की आंखंे भी चुंधिया जाती हैं। फैशन के इस दौर में आजकल बाइक पर आब्जेक्टिव मिरर भी ऊपर से हैंडल के नीचे की तरफ हो गए हैं, जिसे देखकर लगता है कि ये लोग बिना रोक-टोक के कानफाड़ू हॉर्न के साथ तेजगति से हमेशा टशन में रहते हैं। ऐसे हॉर्न के शौकीन लोग शान से तेज गति से बाइक्स को दौड़ा रहे हैं और बिना मतलब के प्रेशर हॉर्न बजा रहे हैं। हालांकि ट्रैफिक नियमों में गाड़ी में प्रेशर हॉर्न पर पाबंदी है। पुलिस सप्ताह में एक-दो बार इन सिरफिरों के चालान भी करती है, फिर भी ये लोग ऐसे काम करने से बाज नहीं आ रहे। लोगों में टेक चंद कौशल, बलबीर, दिनेश भाटिया, रूपेश, पवन, कुलवंत, राजेश, राजू, पुनीत, नीलम, मोनिका, राधिका, सक्षम, विनोद व पंकज इत्यादि ने पुलिस से ऐसे बाइकर्स पर पाबंदी लगाने की मांग की है।

You might also like