राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने दिया स्वच्छता का संदेश

शिमला -नगर निगम शिमला द्वारा बुुधवार को भी रिज स्थित पद्मदेव परिसर में रिवॉली की ओर लगती पहाड़ी पर स्वच्छता अभियान चलाया गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने भी आयोजित स्वच्छता अभियान में भाग लिया। उन्होंने स्वयं झाड़ू उठाकार सफाई कर स्वच्छता का संदेश दिया। नगर निगम शिमला की महापौर कुसुम सदरेट, उपमहामौर राकेश शर्मा, पार्षद और निगम के कर्मियों ने भी स्वच्छता अभियान में राज्यपाल के साथ भाग लिया। यह अभियान  एक घंटे तक चला और राज्यपाल ने सभी को स्वच्छता के लिए प्रेरित किया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि आज दुनिया में वैश्विक उष्मीकरण एक गंभीर चुनौती बन गया है और हमें बहुमूल्य पर्यावरण की रक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिएं। उन्होंने यह बात पत्रकारोंं से अनौपचारिक बातचीत में कही। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को उसके नैसर्गिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है। ईश्वर के दिए इस बहुमूल्य खजाने को बचाने के लिए हम सबको मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में हर वर्ष लाखों पयर्टक आते हैं। राज्य में पयर्टकों को और अधिक आकर्षिक करने के लिए हमें शहरों और कस्बों को साफ-सुथरा रखा जाना चाहिए, जिसके लिए इस तरह के स्वच्छता अभियान कारगर सिद्ध हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान का हिस्सा बनकर हम न केवल पर्यावरण को बचा सकते हैं बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह उपयोगी सिद्ध हो सकता है। उन्होंने कहा कि नगर निगम शिमला द्वारा इस स्थान पर पार्क बनाने पर विचार किया जा सकता है और निगम इस जमीन को शिमला प्रेस क्लब को देने पर विचार करे। उन्होंने कहा कि निगम ने जानकारी दी है कि शहर में जहां पर भी निगम की जमीन है उसे गैर सरकारी संगठनों को रख-रखाव के लिए देने पर विचार चल रहा है और वर्ष बाद इसका आकलन किया जाएगा। जिस गैर सरकारी संगठन ने सबसे बेहतर कार्य किया होगा उसे सम्मानित किया जाएगा।

You might also like