रामपुर में अफीम की खेती का पर्दाफाश

दुगर्म पंचायत कूट में पुलिस ने 500 पौधे किए नष्ट, नशा उगाने वाला आरोपी फरार

रामपुर बुशहर -रामपुर के दुर्गम क्षेत्रों में अवैध नशे का कारोबार फलफूल रहा है। सड़क सुविधा से अछूते क्षेत्रों में यह कारोबार खूब पनप रहा है। इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब रामपुर विधानसभा की सबसे दुर्गम क्षेत्र कूट पंचायत में पुलिस ने अवैध रूप से उगाए अफीम के 500 पौधे बरामद किए। कूट गांव मंे एक व्यक्ति की जमीन से अफीम के 500 पौधे नष्ट किए। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की है। अपनी जमीन पर गैर कानूनी तरीके से अफीम की खेती करने वाला आरोपी फिलहाल पुलिस की पकड़ से बाहर है। आरोपी की पहचान रघु दास पुत्र पदम दास निवासी कूट तहसील रामपुर के तौर पर हुई है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर ली है। डीएसपी रामपुर अभिमन्यु वर्मा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपी की धरपकड़ के लिए पुलिस ने अपनी छानबीन तेज कर ली है। उन्होंने बताया कि रामपुर क्षेत्र में नशे कारोबार को जड़ से समाप्त करने के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है। पुलिस ने विशेष रूप से नशे कारोबारियों की धरपकड़ के लिए टीम गठित की है, जो रामपुर आसपास नशे कारोबार से जुडे़ लोगों पर नजर बनाए हुए है। उन्होंने बताया कि इसी टीम की गुप्त सूचना के आधार पर ही पंद्रह बीस क्षेत्र के कूट गांव में एक व्यक्ति द्वारा अवैध रूप से अफीम की खेती करने की सूचना मिली थी। पुलिस ने इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए मौके पर जाकर अफीम के करीब 500 पौधों को उखाड़ कर नष्ट किया, वहीं जो व्यक्ति अपनी जमीन पर अफीम की खेती कर रहा था, वह पुलिस के आने की सूचना मिलते ही वहां से फरार हो गया। इस मामले के सामने आने से एक बात स्पष्ट हो गई है कि दुर्गम क्षेत्रों में नशे का अवैध कारोबार खूब जोरों पर है, जिस पर अगर जल्द लगाम नहीं लगाई गई तो युवा पीढ़ी नशे की गिरफ्त में फंसती चली जाएगी।

You might also like