रामपुर में खुले में जलाया कूड़ा

पर्यावरण दिवस पर उड़ी नियमों की धज्जियां, मनमानी करने वालों पर नहीं कसा जा रहा शिकंजा

ऊना -एक ओर जहां पर्यावरण दिवस धूमधाम से मनाया गया। वहीं, दूसरी ओर पर्यावरण नियमों की धज्जियां भी उड़ाई गई, लेकिन नियमों की अवहेलना करने वालों पर शिकंजा कसने वाला कोई भी नहीं दिखाई दिया। अधिकतर नियमों की अवहेलना होने के बावजूद भी इस ओर कोई भी उचित कदम नहीं उठाए जाते हैं। इसके चलते नियमों की अवहेलना करने वाले लोगों के हौंसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। पर्यावरण को स्वच्छ बनाने की शपथ ली गई, लेकिन उसके बावजूद भी कई ऐसे लोग हैं जो पर्यावरण को बचाने के लिए गंभीर नहीं दिखे। नगर परिषद ऊना के तहत रामपुर में कूड़ा ठिकाने लगाने के लिए बनाई गई डंपिंग साइट में कूड़ा खूले में जलाया गया। हालांकि यह डंपिंग साइट पहले ही स्वां नदी के पानी को दूषित कर रही है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता है। वहीं, दूसरी ओर यहां पर कूड़ा भी खुले में ही जलाया गया। जबकि यहां पर लैंडफिल विधि से कूड़ा ठिकाने लगाया जाता है। एक ओर जहां पर्यावरण बचाओ को लेकर लोग सड़कों पर उतर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर पर्यावरण को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। ऐसे में नगर परिषद को इस ओर उचित कदम उठाने चाहिए, ताकि भविष्य में इस तरह की कोई भी कोताही न हो।  उधर, इस बारे में नगर परिषद ऊना के अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी नारायण चौहान ने बताया कि मसला उनके ध्यान में नहीं है। यदि इस तरह की कोताही की गई है तो इस ओर उचित कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि नियमों की अवहलेहना सहन नहीं की जाएगी।

You might also like