लाशों से भर गई जिभी खड्ड

3.15 चली बस, 3.40 मिनट पर पेश आया हादसा, 25 मिनट में मौत के मुंह में जा पहुंचे लोग

बंजार—जिला कुल्लू के उपमंडल बंजार के बयोट मोड़ में दर्दनाक बस हादसा पेश आया। हादसे में कई जिंदगियां मौत के मुंह लगीं। मात्र 25 मिनट में 36 के करीब लोगों की मौत हो गई और लाशों से जिभी खड्ड भर गई। जानकारी के अनुसार निजी बस बंजार बस स्टैंड से दोपहर बाद ठीक 3ः15 पर गाड़ागुशैणी के खौली के लिए निकल पड़ी। बस जैसे ही 25 मिनट बाद यानी 3ः40 पर बयोट मोड़ के पास पहुंची तो अचानक अनियंत्रित होकर मोड़ से नीचे करीब 500 मीटर खाई में जिभी खड्ड में जा गिरी। यह बस खचाखच सवारियों से भरी हुई थी। बस में घयागी, बाहू, मोहनी, जिमरचाणी, गाड़ागुशैणी के लोग सवार थे। हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई, जबकि हादसे में 37 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। बस जैसे ही मोड़ से नीचे जा गिरी तो बस की छत्त पर पहले टूटी और बस पलटते हुए खड्ड तक पहुंचे। बस के परखचे उड़े हुए हंै। खड्ड लाशों से भरी पड़ी है। इनमें एक परिवार के दो-तीन सदस्यों की मौत भी हो गई। बस पलटती हुई वहां से गुजर रहे एक शिक्षक और जलोड़ी की ओर जा रहे सैलानियों ने देखी। उनकी चीख-पुकारों के बाद आसपास के लोग एकत्रित हुए और इसकी सूचना बंजार प्रशासन और पुलिस विभाग को दी गई। इसके बाद पुलिस अपने रेस्क्यू दल के साथ मौके के लिए पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से शवों और घायलों को सड़क तक निकाला गया। 108 आपातकालीन एंबुलेंस और निजी वाहनों के माध्यम से अस्पताल पहुंचाया गया। सूचना मिलते ही उक्त गांवों के लोग भी बंजार अस्पताल पहुंचे और पूरा बंजार अस्पताल चीख पुकारों से गूंजा और लोग बंजार पहुंच अपनो की तलाश में जुटे। शवों को बंजार शव गृह में रखा गया, जबकि अन्य गंभीर घायलों को क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू पहुंचाया गया। इसके बाद गंभीर रूप से घायलों को पीजीआई चंडीगढ़ के लिए रैफर किया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सभी शवों को कब्जे में ले लिया है।

दर्दनाक हादसे में इन्होंने गंवाई जान

 पुष्पा देवी पत्नी मोहन लाल गांव बाहू (25)  विशन सिंह पुत्र आलम चंद गांव छुनार (42)  आदित्य शर्मा पुत्र ओम प्रकाश गांव पड़ेछ़ा (22)  चांदनी पुत्री ब्रिज लाल गांव ढ़नास बालीचौकी (20)  मीना देवी पुत्र ईश्वर दास गांव भनवाड़ी बालीचौकी (22)  चरण सिंह पुत्र दया राम गांव गड़शाऊ (54)  डोला पुत्र परमानंद गांव पोड़ी (56)  खजान सिंह पुत्र केशव राम गांव रूंडा (75)  दीपेंद्र पुत्र देवकीनंद गांव पेड़छा (26)  चंपा पत्नी महेंद्र सिंह गांव खाऊली (26)  बस परिचालक छोटू  यशपाल पुत्र गुमत गांव मोहनी (36)  सेस राम पुत्र तुले राम गांव मोहनी (80)  पूर्ण चंद पुत्र गुरदयाल सिंह गांव थनवाड़ी (24)  कांता पत्नी डाबे राम गांव बाहू (26)  रमेश चंद पुत्र भूप सिंह गांव मोहनी (20)  कांता देवी पत्नी करतार सिंह गांव बछूट (38)   पतू देवी पत्नी धर्मदास गांव बरठीधार तांदी (62)  मोहन लाल गांव (44)  हेम लता पत्नी चेतन प्रकाश गांव खनाड़ा (24)  पन्ने लाल पुत्र भीमसेन (37)  बालू देवी पत्नी सालग राम गांव बछूट (67)  बीना देवी पुत्र दलीप सिंह गांव बाह (20)  सेस राम पुत्र निरंजन सिंह (68)  दीना नाथ पुत्र ठाकुरदास निवासी थाची (60)  यमुना देवी पुत्री जगत राम गांव धार थाची (18)  सइद हसन  ईशा पुत्री राम चंद बछूट (19) वर्ष  शांगरी देवी गांव गुशैणी(75)  रीत राम पुत्र रूप दास गांव ढिढर (45)  खीम सिंह पुत्र जगत राम गांव सनवाड़ (60)  हीरा देवी पुत्री दलीप सिंह गांव बाहू (20)  यमुना देवी पुत्री जगत राम गांव तांदी (18)  रीता देवी पत्नी तापे राम गांव बाहू  धनेश्वरी पुत्री खेम चंद गांव बड़ा बछूट (19)  जाहनवी पुत्री मोहन लाल

यहां हुए बड़े हादसे

 झीड़ी में 2013 में निजी बस हादसा हुआ, जिसमें भी 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई। यह बस भी 42 सीटर थी। इसमें 60 सवारियां ठूंस-ठंूस कर भरी गई थी।

 एक बड़ा बस हादसा मणिकर्ण के सरसाड़ी में वर्ष 2015 में हुआ था। यह बस पंजाब की थी। इसमें 64 लोग सवार थे, जिसमें 40 से अधिक लोगों की मौतहो गई थी। इसके अलावा चार अप्रैल 2014 को शालंग में बस हादसा हुआ। यह बस 42 सीटर थी, जिसमें 50 से अधिक लोग सवार थे। वहीं, 16 मई को बंजार के नागनी में निजी बस पलटी इसमें भी कई लोग घायल हो गए हैं।

You might also like