लू के थपेड़ों ने लगाया कर्फ्यू

नाहन—करीब तीन दिनों से लगातार बढ़ रहे तापमान ने जिला सिरमौर को मैदानी क्षेत्रों का अहसास करवा दिया है। भीषण गर्मी ने जिला सिरमौर के लोगों का जहां आम जनजीवन प्रभावित कर दिया है, वहीं बढ़ते पारे से जिला के अधिकांश हिस्सों में पेयजल संकट भी गहराने लगा है। यही नहीं तापमान में आए अचानक भारी उछाल से आगजनी की घटनाएं भी बढ़ने लगी हैं। हालत यह है कि आए दिन जहां जिला के विभिन्न हिस्सों में आगजनी की घटनाओं ने सरकारी व निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया है, वहीं दिन में जिला का तापमान बीते तीन दिनों में पांच से सात डिग्री बढ़ गया है। पड़ोसी राज्य हरियाणा से सटे जिला के औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में तापमान जहां 43 डिग्री तक पहुंच गया है, वहीं पांवटा साहिब भी लोगों को गर्मी में घरों में दुबकने को मजबूर कर रहा है। पांवटा साहिब के तापमान में भी गत तीन दिनों में चार से पांच डिग्री का उछाल हुआ है। यही नहीं नाहन शहर जो कि छोटी पहाड़ी पर स्थित है में भी तीन दिनों में 37 से 39 डिग्री तक तापमान छू गया है। पारे की बढ़ती रफ्तार ने जहां नाहन, पांवटा साहिब, कालाअंब, सतौन, ददाहू, श्रीरेणुकाजी जैसे क्षेत्रों में दिन के समय सड़कों पर कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं पहाड़ी क्षेत्रों में हरिपुरधार, शिलाई, नौहराधार, सराहां व राजगढ़ के तापमान में भी चार से पांच डिग्री का उछाल आया है। लगातार तापमान की वृद्धि से अग्निशमन विभाग भी सतर्क हो गया है। जहां जमटा में वन भूमि पर आगजनी की घटना से सैकड़ों हेक्टेयर भूमि पर नुकसान हुआ है, वहीं नाहन शहर के इर्द-गिर्द भी आगजनी की घटनाओं ने तापमान में ओर वृद्धि कर दी है। गर्मी की अधिकांश परेशानी स्कूली बच्चों को उठानी पड़ रही है। बोर्ड के निर्धारित समय के मुताबिक स्कूलों में छुट्टी का टाइम तीन बजे रखा गया है, जिस वक्त सर्वाधिक गर्मी रहती है तथा अधिकांश विद्यार्थी स्कूल से घर तक पहुंचने में भीषण गर्मी के चलते अपने आपको असहज महसूस कर रहे हैं। यहां तक कि अभिभावक, जिला प्रशासन व स्कूल शिक्षा बोर्ड से मांग कर रहा है कि मई व जून के महीने में गर्म क्षेत्रों में स्कूल की समयसारिणी में सुबह नौ बजे की अपेक्षा सात बजे का टाइम तथा छुट्टी का समय तीन बजे की जगह एक बजे निर्धारित किया जाए।

अग्निशमन विभाग भी चौबीस घंटे मुस्तैद

फायर सीजन चरम पर होने तथा पेयजल स्त्रोत में पानी का स्तर गिरने की वजह से सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग के अलावा वन विभाग ने कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं। अग्निशमन विभाग भी चौबीस घंटे मुस्तैद रहता है। नाहन फायर स्टेशन के लीडिंग फायरमैन व कार्यवाहक फायर आफिसर लाजेंद्र दत्त के मुताबिक करीब एक सप्ताह में गर्मी में भारी उछाल की वजह से एक दर्जन के आसपास आगजनी की घटनाएं हो चुकी हैं।

कोल्ड ड्रिंक्स, गन्ने के जूस की बढ़ी डिमांड

गर्मी बढ़ने से शरीर को ठंडक पहुंचाने वाले पेय पदार्थों की बिक्री में भी इजाफा हुआ है तथा कोल्ड ड्रिंक्स, गन्ने व अन्य फलों के जूस की  बिक्री आसमान पर पहुंच गई है। इसके अलावा पंखे, कूलर व एसी की भी अचानक मांग बढ़ गई है। भले ही मौसम विभाग आगामी एक-दो दिनों के भीतर राहत की बात कर रहा है, परंतु अभी जिला सिरमौर केे लोगों के गर्मी ने पसीने निकाल दिए हैं।

You might also like