लेफ्टिनेंट अखिल बैंस का भलोह में जोरदार स्वागत

ऊना—लेफ्टिनेंट बनने के बाद अखिल बैंस का अपने पैतृक निवास गांव भलोह पहुंचने पर लोगों ने उनका स्वागत किया। कार्यक्रम में बीडीसी चेयरमैन रानी गिल, पंचायत प्रधान कंचन, गुरनाम, गुरदयाल सहित अन्य लोगों ने अखिल की दादी नसीब कौर, पिता कश्मीर, माता उपिंद्र कौर तथा अखिल बैंस को सम्मानित किया। कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य गांव की नई पीढ़ी को नए आयाम प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना था। अखिल बैंस के पिता कश्मीर सिंह भी राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित  हैं। वर्तमान में राजकीय उच्च पाठशाला भलोण में मुख्याध्यापक के पद पर कार्यरत हैं। वहीं, माता लेक्चरर हैं। सम्मान समारोह में अखिल बैंस तथा उसके परिवार ने सभी का धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि अखिल की उपलब्धि सभी के आशीर्वाद से ही मिल पाई है। उधर, अखिल बैंस ने कहा कि मंजिले उनके इंतजार में बैठी होती है जो मुश्किलों से सामना करने के लिए सदैव तैयार रहते हैं। कार्यक्रम में गांव से सेना में पहले से अपनी सेवा दे रहे 17 जवानों तथा उनके माता-पिता को भी सम्मान दिया गया। बता दें कि मात्र 371 जनसंख्या वाले गांव भलोह से प्रदीप सिंह, रेशम सिंह, सोहन सिंह, सुखवीर सिंह, जीवन सिंह (भारतीय वायु सेना), अंकित कुमार (भारतीय वायु सेना), लखविंद्र सिंह , परमजीत सिंह, राजिंद्र सिंह, गौरव सिंह , सुरिंद्र सिंह, सौरभ, राजिंद्र, रविंद्र, कुलविंद्र, जतिंद्र, लेफ्टिनेंट अखिल बैंस सहित कुल 18 लड़के इस समय मातृभूमि की रक्षा के लिए अपनी सेवाएं दे रहे हैं। कार्यक्रम में करनैल सिंह, प्रिंकल, पलविंद्र, सुच्चा सिंह, केवल सिंह, सुरजीत, बलबीर, लाडी, जसविंद्र, रणजीत,  मोहिंदर सिंह, विखिल बैंस, निखिल बैंस, हिमानी,  महक, बलविंद्र कौर, चंचला, नीलम, बिमला आदि सभी गांववासी उपस्थित थे।

You might also like