लोकसभा चुनाव के बाद पहला जनमंच 16 को

सीएम होंगे दिल्ली; मंत्री जिलों में रहेंगे हाजिर, राज्य सरकार ने तय किया शेड्यूल

शिमला – लोकसभा चुनाव के बाद सरकार का पहला जनमंच 16 जून को सजेगा। इस दिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर दिल्ली में होंगे, तो यहां सरकार के मंत्री जिलों में मोर्चा संभालेंगे। बताया जाता है कि अब तक हुए जनमंच कार्यक्रमों में 30 हजार शिकायतों का निपटारा कर दिया गया है। जनमंच को लेकर खुद मुख्य सचेतक नरेंद्र बरागटा, जिन्हें इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है, वह रिव्यू कर रहे हैं। उन्होंने  दो जिलों में रिव्यू कर भी लिया है। जहां एक तरफ मंत्रियों के सामने प्रशासनिक अधिकारी लोगों की शिकायतों को लेते व उन्हें निपटाते हैं, वहीं इस पर पूरी नजर भी रखी जाती है। मुख्य सचेतक इस तरह से सभी जिलों का लगातार रिव्यू करते रहेंगे और अधिकारियों से जानकारी लेकर मुख्यमंत्री को देंगे। इस तरह की व्यवस्था से जनमंच का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जा रहा है। पहले माना जा रहा था कि इस बार का जनमंच दो जून को होगा, क्योंकि वह महीने का पहला रविवार था, लेकिन अब ऐसी व्यवस्था नहीं है। अब महीने मे ं किसी भी रविवार को जनमंच हो सकता है, जिसके चलते 16 जून का दिन तय किया गया है।

कौन मंत्री, कहां होगा

विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल को सिरमौर के पच्छाद में भेजा जा रहा है। आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह मंडी सदर में होंगे। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज डलहौजी में समस्याएं सुनेंगे, जबकि शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी सांगला में होंगी। कृषि मंत्री डा. रामलाल मारकंडा केलांग तथा स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार बंजार में जनसमस्याएं होंगे। पंचायतीराज मंत्री वीरेंद्र कंवर ऊना के कुटलैहड़, परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर धर्मशाला, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डा. राजीव सहजल कसौली, विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज भोरंज, योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश चंद धवाला झंडूता तथा मुख्य सचेतक नरेंद्र बरागटा रोहडू में होने वाले जनमंच कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

नहीं होंगे किशन कपूर विक्रम ठाकुर

इस बार जनमंच में उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर और खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर नहीं होंगे। उद्योग मंत्री विदेश यात्रा पर जा रहे हैं, वहीं किशन कपूर अब सांसद बन चुके हैं। उम्मीद है कि वह इससे पहले सांसद पद की शपथ ले लेंगे, लिहाजा उन्हें इस जनमंच में शामिल नहीं किया गया है। अनिल शर्मा पहले ही पद से इस्तीफा दे चुके हैं, जिनकी जगह पर अभी नई नियुक्ति होनी है।

You might also like