वित्त मंत्री बनाकर चौंकाया

पीएम नरेंद्र मोदी ने पूर्व रक्षा मंत्री को फाइनांस मिनिस्टर बनाकर किया हैरान

नई दिल्ली -ऐसे वक्त में जब एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत थोड़ी लड़खड़ाती दिख रही है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पूर्व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्री बनाकर बाजारों को चौंका दिया। अभी अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर भारत के सामने कई चुनौतियां हैं और इस वक्त अमरीका के साथ कारोबारी रिश्ते भी तनावपूर्ण हैं। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को गृह मंत्री बनाया गया है। उन्हें केंद्रीय सुरक्षा बलों पर नियंत्रण के साथ आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी मिली है। हालिया चुनाव में मोदी की प्रचंड जीत के मुख्य शिल्पी माने जाने वाले शाह ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह की जगह ली है, जिन्हें अब रक्षा मंत्री बनाया गया है। 59 साल की सीतारमण मोदी 2.0 केबिनेट में सबसे वरिष्ठ महिला हैं और पूर्व पीएम दिवंगत इंदिरा गांधी के बाद वित्त मंत्रालय की अगवाई करने वाली अब तक की दूसरी महिला हैं। सीतारमण को वित्त मंत्री बनाए जाने पर मुंबई में रोवान कैपिटल अडवाइजर्स के संस्थापक योगेश नगांवकर कहते हैं कि यह बड़ी ही चौंकाने वाली और बहुत ही अप्रत्याशित खबर है।

नई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने ये बड़ी चुनौतियां

बता दें कि शाह के सरकार में शामिल होने की सूरत में उन्हें वित्त मंत्री बनाए जाने की अटकलें थीं, लेकिन आखिरकार यह जिम्मेदारी सीतारमण को मिली, जो इकनॉमिक्स बैकग्राउंड से आती हैं। वह मोदी के पहले कार्यकाल में वाणिज्य मंत्री थीं और थोड़े समय के लिए वित्त मंत्रालय में जूनियर मिनिस्टर भी रही थीं। शाह और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के उलट सीतारमण को राजनीतिक रूप से लाइटवेट माना जाता है। सीतारमण को ऐसे वक्त में वित्त मंत्रालय की कमान मिली है, जब उद्योग जगत की तरफ से सरकार पर इस बात का दबाव है कि भारत की 2.7 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था में सुस्ती को दूर करने के लिए तत्काल कुछ कारगर कदम उठाए जाएं।

You might also like