विपदा से बचाएगी आपदा सूचना पहल

हर जिला से ट्रेंड किए जाएंगे आठ से दस स्वयंसेवक

शिमला —राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एचपीएसडीएमए) ने सोमवार को आपदा सूचना पहल विषय पर राज्य स्तरीय कार्यशाला आयोजित की। कार्यशाला सस्टेनेबल एनवायरन्मेंट एंड इकलॉजीकल डिवेलपमेंट सोसायटी (सीडस) व फेसबुक की साझेदारी से आयोजित की गई। विशेष सचिव (राजस्व आपदा प्रबंधन) डीसी राणा ने कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए कहा कि प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में आपदाओं से संबंधित सही समय पर जानकारी देने की आवश्यकता है, ताकि समय पर सूचना उपलब्ध करवाने से पर्यटकों और आगंतुकों को असुरक्षित क्षेत्रों में बाहर निकलने के लिए सूचित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इससे आपदा में फंसे हुए लोगों के स्थान की जानकारी हासिल करने में मदद मिल सकती है, ताकि उन्हें बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि आपदा से निपटने के लिए राज्य सरकार ने आपदा सूचना पहल कार्यक्रम (डीआईआई) शुरू किया है। कार्यक्रम के अंतर्गत प्रत्येक जिले से लगभग आठ से दस स्वयंसेवकों को को चुना जाएगा और उन्हें स्थिति का त्वरित मूल्यांकन करने और तेजी से कार्य करने में मदद करने तथा सूचना प्रदान करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आपदाओं के दौरान, फोन नेटवर्क के जाम होने और सड़कों के अवरुद्ध होने पर सम्पर्क प्रभावित होता है। डीआईआई के माध्यम से समय पर स्थानीय लोगों को नुकसान के स्थल की प्राथमिक जानकारी साझा करने के लिए एक मंच उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि डीआईआई द्वारा ऐसी प्रणाली विकसित की जाएगी जिसमें समय रहते स्वयंसेवकों द्वारा आपदा सम्बन्धी सूचना उपलब्ध करवाई जा सकेगी। उन्होंने कहा कि फेसबुक की ‘सेफ्टी चेक’ प्रणाली आपदा या संकट में स्वयं के सुरक्षित होने और दूसरों पर नजर रखने का एक सरल तरीका होगा। आपदाओं के दौरान ‘खुद को सुरक्षित चिन्हित करना’ उपयोगी साबित हो सकता है।

 

 

You might also like