विशाल जनादेश को देखते हुए अब विपक्ष आत्मचिंतन करे: नड्डा

 

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा ने आज कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने देश को निराशा की स्थिति से बाहर निकाल कर किसानों के आंसू पोंछने और महिलाओं को विकास में भागीदार बनाने तथा उनकी तकलीफों को दूर करने एवं गरीबों के स्वास्थ्य का ख्याल रखने का काम किया है। उन्होंने कहा कि शायद इसी के कारण उसे इतना बड़ा जनादेश मिला इसलिए विपक्ष को अब विध्वंस करने की जगह आत्मचिंतन करने की जरुरत है क्योंकि रस्सी जल गयी है पर बल नही गया है..श्री नड्डा ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत करते हुए यह बात कही। उनके प्रस्ताव का अनुमोदन उनकी पार्टी की सांसद संपतिया उईके ने किया है।श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उनकी सरकार ने देश को निराशा की स्थिति से बाहर निकला है और इस चुनाव में न केवल महिलाओं ने अधिक मतदान किया बल्कि अधिक महिलाएं भी चुनकर आयी हैं । बिना महिलाओं के विकास भी अधूरा है और उनकी सरकार ने 99 प्रतिशत शौचालय बनवा कर महिलाओं को आत्म सम्मान भी दिया है और उज्ज्वला योजना से गरीब महिलाओं को गीली लकड़ियों के धुएं में खाना बनाने से तकलीफ से निजात दिलाई है तथा उनके फेफड़ों को ख़राब होने से बचाया है।उन्होंने कहा कि देश में किसानों के नाम पर रोटियां सेंकी गयी, उनके नाम पर राजनीति की गयी ,किसान नेता बनाने के प्रयास किये गये लेकिन उनके आंसुओं को पोंछने का प्रयास नहीं किया गया । भाजपा ने स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू कर न्यूनतम समर्थन मूल्य डेढ़ गुना किया जबकि इससे पहले वह रिपोर्ट धूल खा रही थी । इतना ही नहीं किसानों की आय दोगुना करने का काम किया गया और उन्हें फसल बीमा का लाभ दिया गया।

 

You might also like