वेलनेस सेंटर में शुरू होगी बीएससी नर्सिंग

कांगड़ा -हिमाचल प्रदेश में चिन्हित किए गए वेलनेस सेंटर में जल्द ही बीएससी नर्सिंग की कक्षाएं आरंभ की जाएंगी। यह सुविधा टीएमसी, धर्मशाला, चंबा, हमीरपुर, नाहन तथा मंडी में जल्द ही आरंभ कर दी जाएगी। डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा में डायलिसिस की सुविधा को सुचारू चलाने के लिए इसे ट्रिप्पल पी मोड पर चलाया जाएगा, जिसके लिए जल्द ही प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। प्रदेश सरकार संपूर्ण स्वास्थ्य योजना जल्द ही शुरू करेगी तथा इसके प्रथम चरण में 12 स्वास्थ्य संस्थानों को संपूर्ण अस्पतालों में परिवर्तित किया जाएगा। इनमें ऐसी व्यवस्था भी स्थापित की जाएगी, जिसके माध्यम से रैफरल केसिज की ऑनलाइन मॉनिटरिंग भी हो सकेगी। प्रदेश में गंभीर बीमारियों  पार्किंसन, कैंसर, पैरालिसिस, मस्कुलर, डिस्ट्रफी, हीमोफीलिया, थैलासीमिया, रीनल फेलियर से ग्रस्त व्यक्तियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से सहारा योजना शुरू की है। योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को वित्तीय सहायता के रूप में दो हजार रुपए प्रति माह प्रदान किए जाएंगे। शुक्रवार को डा. राजेंद्र प्रसाद राजकीय मेडिकल कालेज टांडा के सभागार में दो दिवसीय रैबीज के खिलाफ कंसोर्टियम के 7वें वार्षिक राष्ट्रीय सम्मेलन के शुभारंभ अवसर पर प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।  इस सम्मेलन में देश भर के 11 राज्यों के लगभग 150 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। प्रतिनिधियों में विशेषज्ञ चिकित्सा चिकित्सक, पशु चिकित्सा स्वास्थ्य विशेषज्ञ, पर्यावरण स्वास्थ्य विशेषज्ञ शामिल हैं। इस अवसर पर टीएमसी के पिं्रसीपल डा. भानू अवस्थी, कंसोर्टिम अंगेस्ट रैबीज संस्था के महासचिव डा. अनुराग अग्रवाल व डा. अशोक पांडा, राज्य के टीबी अधिकारी और डिप्टी एमडी एनआरएचएम डा. आरके बैरिया, वोंका साउथ एशिया के अध्यक्ष डा. रमन कुमार, अध्यक्ष क्षेत्रीय टास्क फोर्स नार्थ जोन डा. एके भारद्वाज, डब्लयू एएचओ के सलाहकार डा. रविंद्र कुमार, डा. मोहन कोहली, राज्य एविडेमियोलॉजिस्ट और मास्टर ट्रेनर आईडीआरवी डा. उमेश भारती, सीएमओ  कांगड़ा डा. गुरदर्शन गुप्ता, एमएस टांडा डा. सुरिंद्र सिंह भारतद्वाज, डा. सुनील रैना आदि मौजूद रहे।

You might also like