व्यापार युद्ध की आहट से बाजार में घबराहट

अमरीकी उत्पादों पर टैरिफ बढ़ाए जाने से कोहराम, सेंसेक्स में 491 अंकों की गिरावट

मुंबई -अमेरिका के 28 उत्पादों पर भारत द्वारा टैरिफ में बढ़ोतरी किए जाने से दोनों देशों के बीच व्यापार युद्ध बढ़ने की आशंका में सोमवार को हुई भारी बिकवाली से घरेलू शेयर बाजार में कोहराम मच गया, जिससे बीएसई का सेंसेक्स 491 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 151 अंक लुढ़क गया। बीएसई का सेंसेक्स 491.28 अंक फिसलकर 39 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 38960.79 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 151.15 अंक लुढ़ककर 11672.15 अंक पर आ गया। इस दौरान छोटी और मझौली कंपनियों में बिकवाली का दबाव रहा जिससे बीएसई का मिडकैप 1.29 प्रतिशत गिरकर 14531.27 अंक और स्मॉलकैप 1.35 प्रतिशत फिसलकर 14172.68 अंक पर रहा। भारत ने अमरीका के बादाम, सेब और अखरोट सहित 28 उत्पादों पर टैरिफ में बढ़ोतरी कर दी है। अमरीका द्वारा तरजीही राष्ट्र का दर्जा वापस लेने और भारतीय उत्पादों पर टैरिफ में बढ़ोतरी किए जाने के विरोध में भारत ने टैरिफ में बढ़ोतरी की है। वर्ष 2018 में दोनों देशों के बीच 142.1 अरब डालर का व्यापार हुआ था। बीएसई के सभी समूह गिरावट में रहे। सबसे अधिक धातु समूह में 3.05 प्रतिशत प्रतिशत का और सबसे कम आईटी समूह में 0.25 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। बीएसई में कुल 2696 कंपनियों में कारोबार हुआ, जिसमें से 1879 लाल निशान में और 685 हरे निशान में बंद हुए, जबकि 132 में कोई बदलाव नहीं हुआ। बीएसई का सेंसेक्स 62 अंकों की बढ़त लेकर 39514.36 अंक पर खुला और देखते ही देखते शुरुआती कारोबार में ही यह 39540.42 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। इसके बाद शुरू हुयी बिकवाली का असर पूरे सत्र बना रहा जिसके कारण सत्र के आखिरी चरण में यह तीन सप्ताह के बाद 39 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 38911.49 अंक पर तक फिसल गया। अंत में सेंसेक्स पिछले सत्र के 39452.07 अंक की तुलना में 491.28 अंक अर्थात 1.26 प्रतिशत गिरकर 38960.79 अंक पर रहा। सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियों में 27 गिरावट में रही, जबकि तीन बढ़त बनाने में सफल रही।

निवेशकों के दो लाख करोड़ डूबे

मुंबई। भारत और अमेरिका के बीच व्यापार तनाव बढ़ने की आशंका में सोमवार को शेयर बाजार में हुई भारी बिकवाली में निवेशकों के दो लाख करोड़ रुपए डूब गए। शेयर बाजार में आए इस भूचाल से बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण दो लाख करोड़ रुपए घट गया। पिछले हफ्ते के अंतिम कारोबारी दिवस में बीएसई बाजार पूंजीकरण 15209588.00 करोड़ रुपए रहा था, जो सोमवार को हुई बिकवाली में घटकर 15009315.18 करोड़ रुपए रह गया। सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियों में से 28 गिरावट में रहीं और मात्र दो कंपनियां बढ़त बनाने में सफल रही। इसी तरह से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज  के निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 46 लाल निशान में, जबकि चार हरे निशान में बंद हुए।

You might also like