शहर में बत्ती गुल, दो घंटे अंधेरे में भटकते रहे लोग

सोलन – सोलन शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में बुधवार देर शाम चले तूफान ने खूब कहर बरपाया। यही नहीं, विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर कई जगह पेड़ गिरने से ट्रेनें लेट हुईं। वहीं तूफान से कई इलाके अंधेरे में डूब गए। हालांकि इस तूफान के साथ आधा घंटा हुई तेज बारिश से गर्मी से काफी हद तक राहत मिली है और इस इससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। इस दौरान धूल भरी आंधी से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं नौणी, धर्मपुर, कुमारहट्टी, परवाणू व साथ लगते क्षेत्रों में भी तूफान का कहर देखने को मिला, जहां करीब दो घंटे तक विद्युत आपूर्ति बंद रही। तेज तूफान के चलने से विश्व धरोहर कालका-शिमला पर ट्रेनों के पहिए थमे रहे। सोलन रेलवे स्टेशन पर सफेदे का पेड़ गिर जाने से दो ट्रेनें डेढ़ घंटा लेट हुई हैं। बताया जा रहा है कि पेड़ गिर जाने के बाद 52452 डाउन गाड़ी को सलोगड़ा स्टेशन व 52454 डाउन गाड़ी को कंडाघाट रेलवे स्टेशन पर रोका गया।

You might also like