शाली बाजार से उठाए फड़ी वाले

ठियोग—ठियोग बाजार में तहबाजारी को खत्म करने के लिए प्रशासन ने सख्ती कर दी है। सोमवार को तहसीलदार ठियोग की अगवाई में नगर परिषद व्यापार मंडल तथा पुलिस की मदद से शाली बाजार तथा अन्य जगहों से रेहड़ी फड़ी वालों को उठा लिया गया है। जबकि सब्जी मंडी के पास भी कुछ तहबाजारियों द्वारा कमेटी की दुकानों पर किए गए कब्जों को भी खाली करवा लिया गया है और सभी केा हिदायत दे दी गई है कि दोबारा बाजार में रेहड़ी फड़ी न लगाएं। जबकि इसके अलावा प्रशासन ने ठियोग बाजार के सभी व्यापारियों को भी सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि अपनी दुकानों से आगे कोई भी बाजार में के रास्ते में सामान न लगाएं अन्यथा व्यापारियों पर भी प्रशासन सख्त कारवाई करेगा। प्रशासन की ओर से तहसीलदार ठियोग ने कहा है कि जो भी व्यापारी सामान लगाता हुआ नजर आएगा उसका सामाना जब्त किया जाएगा। गौरतलब है कि रेहड़ी-फड़ी वालांे पर प्रशासन बार-बार कार्रवाई कर रहा है लेकिन बाजार में जिन व्यापारियों ने अपनी दुकान से कहीं आगे सड़क पर सामान रखा होता है। ऐसे व्यापारियों पर प्रशासन कोई कार्रवाई नहींं करता जिस पर कुछ लोग ऐतराज भी कर रहे हैं लेकिन प्रशासन ने अब ऐसे व्यापारियों पर भी सख्त कारवाई करने को कहा है। जबकि व्यापार मंडल को भी अपने स्तर पर ऐसे व्यापारियों पर नजर रखने को कहा गया है। तहसीलदार ठियोग वेद प्रकाश ने बताया कि पिछले दिनों नगर परिषद की बैठक में र्स्वसम्मति से सभी पार्षदों तथा नगर परिषद की अध्यक्ष ने रेहड़ी-फड़ी वालों को बाजार से उठाने की बात कही थी और जिस पर कार्रवाई करते हुए सोमवार को इन्हें उठा लिया गया है। उन्होंने बताया कि जोहड़ी के पास इन्हें अस्थाई रूप से बैठने की परमिशन दी गई है और यहां पर उन्हीं लोगों को बिठाया जाएगा जो पिछले काफी समय से ठियोग बाजार में फड़ी लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से करीब 28 लोगोंं की सूची बनाई गई है जिन्हें यहां पर बिठाया जाएगा ये वहीं लोग हांेगे पंजीकृत है। जबकि दूसरी ओर प्रशासन की इस कारवाई को लेकर रेहड़ी-फड़ी वालों ने स्थानीय प्रशासन द्वारा बाजार से रेहड़ी-फड़ी वालों के सामान को उठाने को लेकर कड़े शब्दों में निंदा की और कहा कि प्रशासन ने गरीब लोगों के खिलाफ  कारवाई की है जबकि बाजार में अतिक्रमण करने वाले रसूखदारों ने अभी भी बाजार में दोनों ओर दुकानों के सामने अतिक्रमण किया हुआ जिनके खिलाफ  कोई कारवाई नहीं करता। रेहड़ी-फड़ी वालों ने प्रशासन तथा नगर परिषद से आग्रह किया कि सुप्रीम कोर्ट दिशा-निर्देशानुसार देश के अंदर किसी भी तरह की रेहड़ी-फड़ी व तहबाजारी या छोटा व्यापार करने वाले व्यापारी से उनका व्यवसाय नहीं छीना जा सकता। इन्होंने कहा कि इसमें ऐसा भी प्रावधान है कि यदि किसी नगर निकाय में ऐसी समस्या आती है तो इससे पहले इनके लिए कोई स्थान निश्चित करके इनके व्यवसाय को बसाना होगा। इस व्यवसाय से जुड़े लोग अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोजी रोटी को प्रबंध करते हैं। इनका कहना था कि सभी फड़ी वालों के लिए केाई उचित स्थान दिया जाए जिससे कि सभी लोग अपना व्यवसाय चला सके। गौरतलब है कि नगर परिषद केवल उन्हीं लोगों को जोहड़ी के पास जगह देने की बात कर रहा है जो लोग पिछले काफी समय से यहां पर काम कर रहे हैं। बाकि फड़ी वालों को अपना सामान बंद करने को कहा जा चुका है। ऐसे में अब मुश्किल इनके सामने ये आ गई है कि अपने कारोबार को कहां पर चलाएं। उधर, तहसीलदार ठियोग वेद प्रकाश ने कहा है कि मंगलवार को एनएच पर बैठे रेहड़ी फड़ी वालों को भी उठा लिया जाएगा और सख्ती करके दोबारा से नहीं बैठने दिया जाएगा।

You might also like