शाह-गृह, राजनाथ-रक्षा, सीतारमण संभालेंगी वित्त, अनुराग-वित्त राज्यमंत्री

प्रधानमंत्री मोदी ने बांटे विभाग, सुषमा स्वराज की जगह जयशंकर को सौंपा विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नई मंत्रिपरिषद के सदस्यों के विभागों की शुक्रवार को घोषणा कर दी, जिसमें अपने विश्वास पात्र भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को नया गृह मंत्री और पिछली सरकार में गृह मंत्री रहे राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्री बनाया गया है। पूर्व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को अरुण जेटली की जगह वित्त मंत्रालय की महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है। जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से मंत्री बनने से इनकार कर दिया था। सुषमा स्वराज की जगह पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर को नया विदेश मंत्री बनाया गया है। श्रीमती स्वराज ने भी स्वास्थ्य कारणों के चलते इस बार चुनाव नहीं लड़ा था। पिछली सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे नरेंद्र सिंह तोमर को पुराने विभाग के साथ कृषि मंत्रालय की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को मानव संसाधन विकास मंत्रालय, पीयूष गोयल को रेल, वाणिज्य एवं उद्योग, नितिन गडकरी को राजमार्ग एवं सड़क परिवहन विभाग के साथ मध्यम, लघु एवं सूक्ष्म उद्योग (एमएसएमई), धर्मेंद्र प्रधान को पेट्रोलियम एवं इस्पात और रविशंकर प्रसाद को संचार, सूचना प्रौद्योगिकी एवं कानून मंत्री बनाया गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कार्मिक, जन शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष विभाग, महत्त्वपूर्ण नीतिगत मुद्दे तथा ऐसे सभी विभाग अपने पास रखे हैं, जो किसी को आबंटित नहीं किए गए हैं। स्मृति ईरानी को उनके पुराने विभाग कपड़ा मंत्रालय के साथ-साथ महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, महेंद्र नाथ पांडेय को कौशल विकास मंत्रालय और प्रह्लाद जोशी को संसदीय कार्य तथा कोयला एवं खान मंत्रालय का मंत्री बनाया गया है। रामविलास पासवान के विभाग में कोई बदलाव नहीं किया गया है और वह पहले की तरह खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री बने रहेंगे। इसी तरह से हरसिमरत कौर बादल भी पहले की तरह खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय तथा मुख्तार अब्बास नकबी अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री बने रहेंगे। थावर चंद गहलोत को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय तथा अर्जुन मुंडा को आदिवासी कल्याण मंत्रालय में मंत्री बनाया गया है। डा. हर्षवर्द्धन को स्वास्थ्य परिवार कल्याण, विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं पृथ्वी विज्ञान मंत्री बनाया गया है तथा डीवी सदानंद गौड़ा रसायन एवं उर्वरक मंत्री बनेंगे।  शिवसेना के कोटे से कैबिनेट मंत्री बनाए गए अरविंद गणपत सावंत को भारी उद्योग एवं लोक उद्यम और भाजपा के गिरिराज सिंह को पशुपालन, डेयरी और मत्स्य मंत्रालय दिया गया है। राजस्थान से कैबिनेट मंत्री बनाए गए गजेंद्र सिंह शेखावत को नए बने जलशक्ति मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है।  स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों में संतोष गंगवार को उनका पुराना विभाग श्रम एवं रोजगार मंत्रालय और राव इंद्रजीत सिंह को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन तथा योजना मंत्रालय, श्रीपद येसो नाइक को पहले की तरह आयुष मंत्रालय, जम्मू-कश्मीर से चुनकर आये डा. जितेंद्र सिंह को भी पहले की तरह ही पूर्वोत्तर विकास मंत्रालय, प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक, जन शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष विभाग में राज्य मंत्री बनाए रखा गया है। पूर्व गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू को युवा एवं खेल मामलों के मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार दिया गया है। प्रह्लाद सिंह पटेल संस्कृति एवं पर्यटन मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालेंगे। बिहार से सांसद आरके सिंह को उनके पुराने विभाग ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा के साथ-साथ कौशल विकास मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है। राज्यसभा सांसद हरदीप सिंह पुरी को शहरी कार्य एवं आवास मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार दुबारा दिया गया है। इसके साथ ही उन्हें नागरिक उड्डयन मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार भी उनके पास होगा। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में वह राज्य मंत्री होंगे। मनसुल लाल मांडविया को जहाजरानी मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार तथा रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है। राज्य मंत्रियों में वीके सिंह को विदेश मंत्रालय से हटाकर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। अर्जुन राम मेघवाल संसदीय कार्य मंत्रालय में बने रहेंगे, लेकिन उनसे जल संसाधन मंत्रालय लेकर उसकी जगह उन्हें भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। बिहार से चुनकर आए नित्यानंद राय को गृह राज्य मंत्री की महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। पहली बार मंत्री बनाये गए अनुराग ठाकुर को वित्त तथा कारपोरेट मामलों के मंत्रालय में राज्यमंत्री बनाया गया है। पिछली सरकार में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री रही साध्वी निरंजन ज्योति को ग्रामीण विकास मंत्रालय दिया गया है। छत्तीसगढ़ की सांसद रेणुका सिंह सरूता को आदिवासी मामलों के मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है। रामेशवर तेली को खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्य मंत्री, प्रताप चंद्र सारंगी को लघु, मध्यम एवं सूक्ष्म उद्यम राज्य मंत्री, कैलाश चौधरी को कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री तथा देबश्री चौधरी को महिला एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाया गया है।

You might also like