शाह ही बने रह सकते हैं बीजेपी अध्यक्ष

नई दिल्ली – लोकसभा से लेकर विधानसभा चुनावों में बीजेपी के लिए इलेक्शन विनिंग मशीन बने अमित शाह गृह मंत्री के साथ पार्टी अध्यक्ष भी बने रह सकते हैं। आगामी हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड और दिल्ली के विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर पार्टी किसी तरह का रिस्क उठाने के मूड में नहीं है। अमित शाह के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठने के बाद से संगठन में कायम हुई हनक और नतीजों से कार्यकर्ताओं में पैदा हुए जोश को बीजेपी बनाए रखना चाहती है। आज के दौर में अमित शाह में वो क्षमता है कि वे अति व्यस्त गृह मंत्रालय के साथ 11 करोड़ सदस्यों वाली देश की सबसे बड़ी पार्टी को एक साथ चला सकते हैं।

You might also like