शिमला…बिल न देने से पर्यटक खफा

शहर के कई बड़े होटल व्यवसायियों की कारगुजारी से परेशान, चौगुना बढ़ा दिए रूम रेंट

शिमला –राजधानी शिमला में पर्यटन सीजन में इस बार फिर से होटल व्यवसायियों की लूट बढ़ गई है। हैरानी की बात है कि शिमला से दूसरे राज्यों से घूमने आए पर्यटकों को होटल में रहने के लिए बिल तक नहीं मिल रहे हैं। हालांकि यह हाल शहर के सभी होटलों का नहीं है, पर कुछ एक जाने माने होटल ऐसे हैं, जो पर्यटकों की मजूबरी का फायदा उठाकर उन्हें रात्रि को ठहरने के लिए ज्यादा पैसे तो वसूल रहे हैं, लेकिन मांगने पर उन्हें बिल नहीं थमा रहे हैं। यहां तक कि  जिला प्रशासन व पर्यटन विभाग के नाक तले यह सब होने के बाद भी कोई कार्रवाई इस बारे में नहीं हो रही है। इससे हिल्सक्वीन में देश के अलग-अलग राज्यों से आए पर्यटकों को अधिक आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है। बता दें कि पहली जून से शिमला में पर्यटकों की आमद काफी ज्यादा बढ़ गई है। जानकारी के अनुसार शिमला में होटल कम और पर्यटकों की संख्या ज्यादा हो गई है। यही वजह है कि पर्यटकों की ज्यादा संख्या को देखते हुए शिमला के होटल व्यवसायियों ने अपने रेट बढ़ा दिए हैं। बताया जा रहा है कि शिमला सिटी में लगभग 70 से 80 होटल हैं, इन होटलों के कमरे पूरी तरह से भर गए हैं। पर्यटकों की मानें तो हिमाचल के ऊपरी क्षेत्रों में मौमस अच्छा होने की वजह से वे शिमला में ही आना पसंद करते हैं। पर्यटकों की मानें तो शिमला की वादियों में घूमने का तो खूब आनंद है, लेकिन होटलों के ज्यादा रेट होने की वजह से उन्हें खासा नुकसान यहां होता है। सूत्रों की मानें तो होटल लग्जरी टैक्स की वजह से कई जगह पर होटल व्यवसायी पर्यटकों को बिल नहीं दे रहे हैं। यही वजह है कि  फिर मनमाने ढंग से रेट पर्यटकों से वूसले जा रहे हैं। फिलहाल पर्यटन सीजन  में होटलों में हो रही इस लूट से अच्छी छवि शिमला की नहीं बन रही है। गर्मियों के मौसम में पर्यटक शिमला, मनाली, कुल्लू, रोहतांग जैसी जगहों पर ही ज्यादा घूमने जाते हैं। इन दिनों हिमाचल के इन पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की खूब रौनक देखने को मिलती है। हालांकि शिमला में जिस तरह से समर फेस्टिवल की धूम है, तो यह वजह है कि बाकी जगहों पर घूमने जाने वाले पर्यटकों ने भी शिमला का ही ज्यादा रूख किया है। बता दें कि शिमला के कुफरी, नारकंडा में भी काफी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। शिमला जिला प्रशासन ने पर्यटकों से आह्वान किया है कि अगर होटल में रहने को लेकर उन्हें कोई परेशानी या दिक्कतें पेश आ रही हैं, तो वे शिकायत कर सकते हैं। 

You might also like