शूलिनी विवि की छात्रा का विदेश में बजेगा डंका

सोलन —शूलिनी विश्वविद्यालय की पीएचडी छात्रा अमनप्रीत कौर विर्क को ब्रुसेल्स (बेल्जियम) आधारित यंग वाटर फेलोशिप के लिए मोरिंगा-आधारित जल शोधन प्रणालियों पर उनके काम के लिए चुना गया है। यह यंग वाटर सॉल्यूशंस द्वारा पेश किया गया एक अंतरराष्ट्रीय फेलोशिप है, जो एक अंतरराष्ट्रीय गैर-लाभकारी संगठन है, जिसका उद्देश्य युवा लोगों को सार्वभौमिक पानी, स्वच्छता और स्वच्छता (डब्ल्यूएएसएच) और जल रेजोइ यूरेशन प्रबंधन में योगदान करने की क्षमता का विकास और समर्थन करना है। यंग वाटर फेलोशिप के 2019 संस्करण का आयोजन यंग वाटर सॉल्यूशंस द्वारा किया गया है और यह स्विस एजेंसी फॉर डिवेलपमेंट एंड को-ऑपरेशन द्वारा समर्थित है।  दुनिया भर से फेलोशिप के लिए कुल 375 शोधकर्ताओं ने आवेदन किया और केवल 10 ऐसे फेलो को चुना गया। अमनप्रीत भारत की एकमात्र छात्रा हैं, जिन्हें 2019 में इस फेलोशिप के लिए चुना गया है। अमनप्रीत को इस फेलोशिप के हिस्से के रूप में बेल्जियम, स्वीडन और स्विट्जरलैंड जाने का मौका मिलेगा। वह 40 दिनों की अवधि के लिए इन देशों में एक स्टार्टअप प्रशिक्षण कार्यक्रम में भी भाग लेगी।  उनकी यात्रा यंग वाटर सॉल्यूशंस द्वारा पूरी तरह से वित्त पोषित है। इसके अलावा, उन्हें हिमाचल प्रदेश में एक पायलट प्रोजेक्ट चलाने के लिए 5000 यूरो का अनुदान भी मिलेगा।

You might also like