श्रीदरबार साहिब में लहराईं तलवारें

स्वर्ण मंदिर में आपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर हंगामा, लगे खालिस्तानी नारे

अमृतसर – पंजाब में अमृतसर स्थित श्रीदरबार साहिब पर जून, 1984 में हुई सैनिक कार्रवाई ‘आपरेशन ब्लू स्टार’ की गुरुवार को 35वीं बरसी खालिस्तानी नारों और तलवारवाजी के बीच शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति द्वारा आयोजित बरसी कार्यक्रम के पश्चात श्रीअकाल तख्त के स्वघोषित जत्थेदार ध्यान सिंह मंड द्वारा श्रीअकाल तख्त के सामने सिख समुदाय के नाम संदेश पढ़ने की कोशिश को असफल करने के लिए उत्तेजित लोगों और एसजीपीसी के कार्यक्रताओं के बीच जमकर धक्का मुक्की हुई। इस दौरान ध्यान सिंह मंड को धक्के मार कर बाहर निकाल दिया गया, जिसके विरोध में शिरोमणि अकाली दल मान तथा ध्यान सिंह मंड के समर्थकों ने खालिस्तान समर्थक नारेबाजी की तथा हवा में तलवारें भी लहराई। खालिस्तान समर्थकों ने आपरेशन ब्लू स्टार के दौरान मारे गए खालिस्तानी आतंकी जरनेल सिंह भिंडरावाले की फोटो युक्त टी-शर्ट पहन रखी थी। हंगामें के दौरान श्रीअकाल तख्त साहिब के सामने लगी लोहे की ग्रिल भी क्षतिग्रस्त हो गईं। हालांकि इस दौरान किसी के भी घायल होने की सूचना नहीं है। दमदमी टकासल ने संत समाज के प्रमुख हरनाम सिंह के नेतृत्व में अमृतसर के चौक मेहता स्थित अपने मुख्यालय में आपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर कार्यक्रम का आयोजन किया था जबकि अमरीक सिह अजनाला ग्रुप ने अजनाला में कार्यक्रम का आयोजन किया था। बरसी के मद्देनजर स्वर्ण मंदिर के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए।

बंद रहा पूरा शहर

आपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं वर्षगांठ पर सिख जत्थेबंदियों तथा अन्य गरम ख्याली धड़ों द्वारा  घल्लूघारा दिवस पर दिए गए बंद के ऐलान के चलते सारा शहर बंद रहा। उधर, गांव से शहर आने वाले यात्री भी न के बराबर रहे, लेकिन श्रीहरमंदिर साहिब में आने वाले श्रद्धालुओं की गिनती में कोई कमी नहीं आई।

You might also like