सड़क के नीचे से रिस रहा पानी

शिमला—शहर के वार्ड नंबर दो रूल्दूभट्ठा में सड़क के नीचे से पानी की लीकेज हो रही है, लेकिन इसेे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है। शिकायत होने के बावजूद शिमला जल प्रबंधन निगम कदम नहीं उठा पाया है क्योंकि नगर निगम शिमला उन्हंे सड़क की खुदाई करने की इजाजत नहीं दे रहा है। नगर निगम को इस संबंध मंे जल प्रबंधन निगम ने आग्रह किया है, लेकिन वहां से खुदाई के लिए इजाजत नहीं मिली है। क्योंकि इन दिनों शहर मंे सड़कों की मेटलिंग व टायरिंग का काम किया जा रहा है, परंतु दिलचस्प बात यह है कि इस तरह की व्यवस्था के चक्कर में रोजाना पानी की बड़ी मात्रा में लीकेज हो रही है, जिसे फिर कैसे रोकेंगे यह सवाल है। यहां रूल्दूभट्ठा को जाने वाले मार्ग पर ईदगाह के शुरू में ही सड़क के नीचे से पानी बेहद बर्बाद हो रहा है। रोजाना यहां से पानी बह रहा है और कितना पानी अभी तक बह गया होगा इसका कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। हालांकि शिमला मंे इन दिनांे में पानी की दिक्कत रहती थी, मगर इस साल जल प्रबंधन निगम के प्रयासों से यहां पर पानी की कमी नहीं है। परंतु यह भी सच है कि पानी व्यर्थ नहीं बहना चाहिए। जल प्रबंधन निगम अपनी ओर से पानी की बर्बादी को रोकने के लिए कई तरह के प्रयास कर चुका है जिसमें अनगिनत लाइनों को भी बदला और ठीक किया गया है। ऐसी बर्बादी कहीं पर भी हो इसकी तुरंत सूचना देने की बात भी जल प्रबंधन निगम ने की है, मगर ईदगाह से मिल रही रोजाना की शिकायतों पर भी कोई कदम नहीं उठाया गया है। इससे सरकारी कार्यप्रणाली की पोल भी खुल रही है। सड़क में थोड़ी खुदाई कर इस लाइन को  ठीक किया जा सकता है या फिलहाल बंद किया जा सकता है। नगर निगम को भी इसमें वैसे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए परंतु फिर भी असल कारणों का पता नहीं चल पा रहा है। शिमला में पानी की कमी न हो इसके लिए व्यापक प्रबंध इन गर्मियों में है, लेकिन इसके साथ लीकेज को रोकने की सुदृढ़ व्यवस्था भी होनी जरूरी है, जिस पर जल प्रबंधन निगम लिमिटेड द्वारा कदम उठाया जाना चाहिए।

You might also like