सड़क पर पलटे ट्रक ने लगाया जाम

रोहतांग दर्रे पर जमी बर्फ से पेश आया वाकया, मनाली-लेह रोड पर 18 घंटे थमी रफ्तार

मनाली—मनाली-लेह मार्ग पर 18 घंटे रफ्तार थमी रही। रोहतांग दर्रे पर सोमवार रात एक ट्रक के पलट जाने से मनाली-लेह सड़क पर वाहनों की आवाजाही थमी रही। ऐसे में जहां राहगीरों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा, वहीं यात्रियों संग एचआरटीसी की बसें भी रोहतांग दर्रे के दोनों तरफ फंसी रहीं। प्रशासन को जैसे ही इस घटना की सूचना मिली प्रशासन ने रोहतांग दर्रे के समीप पलटे ट्रक को सड़क से हटाने का प्रयास शुरू किया। इस बीच जहां रोहतांग दर्रे पर गाडि़यों की लंबी कतार लग गई, वहीं निगम के अधिकारियों ने बसों को ट्रांसमिट कर यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया। हालांकि दोपहर बाद रोहतांग दर्रे पर छोटे वाहनों की आवाजाही शुरू हो पाई, जबकि बड़े वाहनों के पहिए थमे रहे। जानकारी के अनुसार मनाली की तरफ से पुल बनाने का सामान ले लाहुल की तरफ एक ट्रक सोमवार देर शाम रवाना हुआ। खराब मौसम के बीच जहां रोहतांग दर्रे पर बर्फ के फाहे भी सोमवार को गिरे थे, वहीं तापमान में भारी गिरावट होने से सड़क पर वाहन चलाना भी जोखिम भरा हो गया था। इसी बीच रोहतांग दर्रे के समीप जैसे ही उक्त ट्रक पहुंचा वैसे ही ट्रक सड़क दुर्घटना का शिकार हो गया। ट्रक सड़क पर जमी बर्फ में फिसल गया और सड़क के बीचोंबीच पलट गया। ऐसे में सोमवार रात से ही उक्त मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही थम गई। मंगलवार सुबह जब प्रशासन को इसकी जानकारी मिली तो ट्रक को वहां से हटाने का अभियान शुरू किया गया। हालांकि मंगलवार को रोहतांग दर्रा सैलानियों के लिए बंद रखा जाता है। ऐसे में दर्रे पर वही यात्री फंसे रहे, जिन्होंने लाहुल की ओर जाना था। रोहतांग दर्रे पर रफ्तार के थमते ही निगम के अधिकारियों ने भी बसों को ट्रांसमिट कर यात्रियों को दर्रे के आर-पार पहुंचाया। उधर, एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगलचंद मनेपा का कहना है कि ट्रक के रोहतांग दर्रे के समीप पलट जाने से बड़े वाहनों की आवाजाही मंगलवार को रोहतांग दर्रे पर नहीं हो पाई। उन्होंने बताया कि मंगलवार दोपहर बाद छोटे वाहनों के लिए जहां सड़क को किसी तरह खोल दिया गया, वहीं देर शाम तक बड़े वाहनों के लिए सड़क बंद ही थी। बहरहाल मनाली-लेह सड़क पर करीब 18 घंटे वाहनांे की आवाजाही ठप रही।

You might also like