सड़क हादसों पर लगाम कब

 उत्तम सूर्यवंशी, किहार, चंबा

हाल ही में हुए कुल्लू के बंजार में बस हादसे ने  सरकार व प्रशासन की नींद खोल तो दी है, मगर क्या सच में सड़क हादसों को लेकर ठोस कदम उठाए जाएंगे? क्या सड़कें ऐसी बनाई जाएंगी, जिससे हादसों पर रोक लगेगी? क्या टै्रफिक व्यवस्था सुधारी जाएगी, जिससे ओवरलोडिंग व ओवरस्पीड जैसी गतिविधियों पर अंकुश लगेगा? यह सिलसिला कई वर्षों से जारी है, हादसे होते हैं, कई लोग मरते हैं। कुछ दिन जरूर ट्रैफिक व्यवस्था पर नजर रहती है, जैसे आजकल कई बसों के चालान काटे जा रहे हैं। सड़क हादसों को रोकने के लिए जिन क्षेत्रों में बस सुविधा की कमी है, जिसके चलते लोगों को मजबूरन ओवरलोडिड बसों में सफर करना पड़ता है, वहां अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की जाए। जगह-जगह ट्रैफिक पुलिस तैनात की जाए।

 

You might also like