सफाई कर्मियों को करें जागरूक

कुल्लू—राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष मनहर वालजीभाई जाला ने जिला प्रशासन तथा सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग को निर्देश दिए कि जल्द से सफाई कर्मचारियों को उनके अधिकारों की जानकारी प्रदान करने के लिए एक बहु-उद्देशयीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया जाए। इस शिविर में इन कर्मियों को शिक्षा, छात्रवृत्ति, बैंक की योजनाओं, श्रम कानून की जानकारी प्रदान करने के लिए संबंधित अधिकारियों को आमंत्रित किया जाए। इस दौरान स्वास्थ्य शिविर भी लगाया जाए। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों को अपने अधिकारों की जानकारी नहीं है, जिसके चलते उनके शोषण की लगातार संभावना रहती है। हालांकि हिमाचल प्रदेश और विशेषकर कुल्लू जिला में कोई बड़ी समस्या इन लोगों को नहीं है और यहां सौहार्दपूर्ण माहौल में ये कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों को केंद्र तथा राज्य सरकार की सभी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज में अंतिम पायदान पर बैठा व्यक्ति भी यदि लाभ से वंचित है,  तो ऐसे में विकसित समाज बनाने की सोच को ठेस पहुंचती है।

कुल्लू में नहीं है सिर पर मैला ढोने का चलन

उपायुक्त डा. ऋ चा वर्मा ने आयोग को अवगत करवाया कि कुल्लू जिला में एक भी मामला सिर पर मैला ढोने का नहीं है और यह प्रथा बहुत पहले बंद हो चुकी है। जिला के नगर निकाय क्षेत्रों में सीवरेज लाइनें बिछाई गई हैं और सभी घरों के कनेक्शन इनमें दिए गए हैं। कुल्लू में सीवरेज उपचार प्लांट भी स्थापित किया गया है। यह भी अवगत करवाया कि सीवरेज लाइनों के अवरुद्ध होने पर अथवा सेप्टिक टैंकों के भीतर जाकर सफाई के मामले न के बराबर है। कूड़ा-कचरा एकत्र करने के लिए इन कर्मियों को नियमित रूप से सुरक्षा किट प्रदान की जा रही है।

You might also like