सभी प्रइवेट स्कूल ध्यान दें

छात्रों की सुरक्षा से किया खिलवाड़ तो होगी कार्रवाई, एसडीएम ने निजी स्कूल प्रबंधकों को दिए ट्रांसपोर्ट संबंधी दिशा निर्देश

रामपुर बुशहर -अगर  निजी स्कूलों ने बच्चों की सुरक्षा को लेकर कोताही बरती तो खैर नहीं। स्थानीय प्रशासन ने रामपुर खंड के सभी निजी स्कूल प्रबंधकों  के साथ बैठक कर सभी को ये कड़ी हिदायत दी कि वह स्कूली बच्चों की सुरक्षा का उचित ध्यान दें। साथ ही स्कूली बच्चों के लिए जो स्कूल बसें इस्तेमाल की जा रही है वह नियमों पर खरा उतरी हों। यानि स्कूल बसें पीले रंग की हों। बसों की खिड़कियों में रैलिंग लगी हो। साथ ही बस चालक के पास ड्राईविंग लाईसेंस होना चाहिए। सभी स्कूली बसों के चालक गहरी नीली होनी चाहिए। इसे लेकर उपमंडलाधिकारी कार्यालय में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सभी स्कूलों के प्रबंधकों ने हिस्सा लिया। बैठक को तहसीलदार विपिन ठाकुर ने संबोधित किया। तहसीलदार रामपुर ने साफ कहा कि यदि स्कूल प्रबंधकों ने छात्रों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया तो भविष्य पर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी और उन्हें किसी भी सूरज में बक्शा नहीं जाएगा। उन्होंने निजी स्कूलों के समक्ष ट्रांसपोर्ट ऑथोरिटी प्राप्त दिशा निर्देशों को रखा और उनका सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए। इससे पूर्व उन्होंने स्कूलों प्रबंधकों उनके पास ट्रांसपोर्ट की क्या क्या सुविधा है की जानकारी जुटाई, तोकि ऑथोरिटी से प्राप्त दिशा निर्देशों को स्कूलों पर लागू किया जा सके। इसके साथ उन्होंने सभी स्कूलों से उनके द्वारा छात्रों को लाने व जाने के लिए किस प्रकार के वाहन का प्रयोग किया जा रहा है और उस वाहन के अंदर क्या क्या सुविधा दी जा रही है और प्रबंधंकों द्वारा छात्रों की सुरक्षा के लिए बस के अंदर क्या इंतजाम कर रखे हैं। उन्होंने कहा कि बस कितनी पुरानी होगी, चालक के पास वैद्य ड्राईविंग लाईसेंस, बस में स्कूल की ओर से एक अटेडेंट और छात्रों को बैठने के लिए बस में उचित स्थान देना आदि शामिल है। उन्हांेने कहा कि यदि स्कूल प्रबंधन इन सब नियमों का पालन नहीं करता है तो भविष्य उसके खिलाफ रिपोर्ट तैयार उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

You might also like