समर फेस्टिवल…रिज पर महानाटी की धूम

शिमला—अंतरराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव के दौरान सोमवार को जहां शिमला सुरों के संगम में पूरी तरह से डूबा हुआ था, वहीं इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की महानाटी ने भी खूब वाहवाही लोगों की बटोरी। जिला प्रशासन की ओर से शिमला के रिज मैदान में समर फेस्टिवल में महानाटी का आयोजन किया गया। इस महानाटी में 650 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने काफी समय तक नाटी डाली। इस नाटी के माध्यम से कार्यकर्ताओं ने लोगों को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। शिमला में ग्रीष्मोत्सव के दौरान आयोजित कार्यक्रमों से पर्यटकों को भारत के सभी क्षेत्रों की संस्कृति से रू-ब-रू होने का अवसर मिल रहा है। रिज मैदान पर आयोजित इस नाटी के माध्यम से जहां बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया गया, तो वहीं हिमाचली संस्कृति को भी बाहरी राज्यों से आए पर्यटकों को दिखाने का प्रयास किया गया। बता दें कि देश भर से पर्यटकों ने आगंनबाड़ी में कार्यरत महिला कर्मचारियों की नाटी को इतना पसंद किया कि उन्होंने इस दौरान नाटी के लिए बनाए गए सर्कल की बहुत-सी फोटो अपने कैमरे में कैद कीं। रिज पर आयोजित महानाटी के आयोजन के बारे में जानकारी देते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिकता विभाग निशा सिंह ने बताया कि इस महानाटी के आयोजन का मुख्य उद्देश्य लोगों को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के संदेश के बारे में जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि 650 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इस नाटी के माध्यम से जहां प्रदेश की लोक संस्कृति से अवगत करवा रही हैं। वहीं, वे महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी संदेश भी दे रही हैं। गौर हो कि राजधानी शिमला के अंतरराष्ट्रीय समर फेस्टिवल को खास बनाने के लिए पहली बार ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ जोड़ा गया है। प्रदेश के अलग -अलग जिलों से आई आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में भी काफी उत्साहिता इस दौरान देखने को मिली। उन्होंने कहा कि हर साल महिलाओं को इस तरह के उच्च लेवल स्तर के कार्य्रकमों में भाग लेने का अवसर प्रदान करना चाहिए।

You might also like