सरकारी कैलेंडर में खीरगंगा का झरना

सैंज -कुल्लू जिला में ऊर्जा उत्पादन में मील का पत्थर साबित हो रही पार्वती परियोजना ने जिला में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से प्रसिद्ध तीर्थस्थल खीरगंगा को अपने सरकारी कैलेंडर में विशेष स्थान दिया है। एनएचपीसी के मुख्यालय फरीदाबाद से वर्ष-2019 के लिए देश के पावर स्टेशनों के लिए जो कैलेंडर जारी हुआ है, उसमें कुल्लू के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटक स्थल खीरगंगा के मनमोहक वाटरफॉल को बड़े आकार में प्रकाशित किया है। प्रदेश में विभिन्न प्रोजैक्टों में निर्माण कार्य कर रही एनएचपीसी ने 20 सालों के इतिहास में पहली बार राज्य के धार्मिक तीर्थ स्थल को जगह दी है। पार्वती प्रोजेक्ट के महाप्रबंधक सीबी सिंह ने बताया कि कुल्लू के प्रमुख तीर्थ स्थल खीरगंगा को कैलेंडर में शामिल किया जाना खुशी का विषय है। इससे इसके बारे में देश-विदेश के लोगों को भी जानने का मौका मिलेगा। वहीं जिला भर के पर्यटन कारोबारियों और पंचायत प्रतिनिधियों ने भी एनएचपीसी के कैलेंडर में खीरगंगा को शामिल करने पर खुशी जताई है। बरशैणी के प्रधान जयराम, मणिकर्ण के प्रधान देवानंद, बराधा की प्रधान गायत्री देवी, रैला पंचायत की प्रधान खीमदासी, उपप्रधान बालमुकुंद, तलाड़ा पंचायत प्रधान सुनीता देवी आदि ने इस पहल को कारगर बताया है।

 

You might also like