सवारियां उतारने को बुलानी पड़ी पुलिस

हमीरपुर —हाल ही में हुए बंजार बस हादसे के बाद बसों में ओवरलोडिंग को लेकर चालकों में खौफ बना हुआ है। एक तरफ जहां निजी बस आप्रेटर लोकल सवारियां बिठाकर राजी नहीं हैं तो दूसरी और एचआरटीसी के चालक चालक निर्धारित बस सीटों से एक भी एक्सट्रा सवारी बिठाने को तैयार नहीं है। उधर निगम अफसर अपने चालकों-परिचालकों को पहले ही चेता चुके हैं कि अगर ओवरलोडिंग का चालान हुआ तो आप ही इसके जि मेदार होंगे। आलम यह है कि बस अड्डों पर तनाव का माहौल बना हुआ है। ऐसे में यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार को हमीरपुर बस स्टेंड पर उस वक्त स्थिति तनावपूर्ण बन गई जब निगम की बस में बैठने वाली एक्सट्रा सवारियों को ड्राइवर-कंडक्टर ने बिठाने से मना कर दिया। बस में सारी सीटें फुल हो चुकी थीं ऐसे में उनका कहना था कि अगर एक्सट्रा सवारी बिठाते हैं तो आगे नाकों पर खड़ी पुलिस चालान काट देगी। लेकिन सवारियों का तर्क था कि उन्हें इसी बस में जाना है क्योंकि दूसरी बस बहुत लेट आएगी। ऐसे में काफी गहमा-गहमी भरा माहौल हुआ तो सवारियों कोबस से उतारने के लिए ड्राइवर-कंडक्टर ने पुलिस को बुला दिया। पुलिस मौके पर पहुंची तो सवारियां भी अड़ गईं कि वे अपने घरों तक कैसे जाएंगी। ड्राइवर का कहना था कि अगर बस में एक्सट्रा सवारियां ले गया तो चालान हो जाएगा। ऐसे में मौके पर मौजूदर पुलिस भी बेबस नजर आई और उन्होंने कहा कि स्टेंडिंग कोई न हो बस एडजस्ट कर लो। आखिर में दो सीटों में तीन और तीन में चार सवारियों को एडजस्ट करवाकर चालक को बस ले जानी पड़ी।

टौणी देवी में चौकी के पास लगानी पड़ी बस

टौणी देवी में जब एक बस ओवरलोड हो गई, तो मजबूरी में चालक ने चालान के डर से पुलिस चौकी के पास जाकर बस को खड़ा कर दिया और पुलिस से कहा कि वे इन एक्सट्रा सवारियों को उतारने में उनकी मदद करें। आखिर काफी समझा-बुझाकर पुलिस ने लोगों को शांत करवाया और वहां से भी सवारियों को एडजस्ट करवाकर बस को रवाना करना पड़ा

लोकल बसों के चालक-परिचालकों को आफत

लोकल रूटों पर जाने वाली बसों के चालक-परिचालकों पर तो आजकल आफत बन आई है। सोमवार को हमीरपुर के एक रूट पर जब बस जा रही थी, तो दूसरी तरफ से आ रहे वाहन चालक ने बस ड्राइवर को बताया कि आगे नाका लगा हुआ है। चालक ने इसकी सूचना तुरंत मोबाइल फोन पर अपने अफसरों को दी। अब इतनी सवारियों को रास्ते में छोड़ भी नहीं सकते थे, तो ड्राइवर को कहा गया कि जो एक्सट्रा सवारियां हैं उन्हें पीछे उतार दो और कहो कि आगे आ जाएं आपको बिठा लेंगे।

You might also like