सालवां में 108 की दरकार

तेलका—सलूणी उपमंडल की पीएचसी सालवां में 108 एंबुलेंस सेवा की सुविधा न होने से मरीजों के तीमारदारों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। 108 एंबुलेंस सेवा न होने से मरीजों के तीमारदारों को महंगे खर्च पर टैक्सी वाहन के जरिए मेडिकल कालेज चंबा का रुख करना पड़ रहा है। ग्रामीणों में सुरेंद्र कुमार, धर्म सिंह, राजेश कुमार, चमारू राम, सोभिया राम, जोधा राम व गगन सिंह का कहना है कि पीएचसी सालवां में बाडका, भजौतरा, सालवां, मौडा, सेरी, करवाल, नड्डल, द्रेकड़ी व सिउला पंचायत से रोजाना सैकड़ों मरीज चिकित्सीय परामर्श व उपचार के लिए पहंुचते हैं। मगर पीएचसी में 108 एंबुलेंस सेवा न होने से मरीजों को आपातकाल में 40 किलोमीटर दूर सलूणी या 25 किलोमीटर दूर संुडला से इस सुविधा के लिए संपर्क करना पड़ता है। जिस कारण मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आपातकाल में स्थिति में तीमारदारों को मजबूरन महंगे खर्च पर टैक्सी वाहन के जरिए मरीज को चंबा पहंुचना पड़ता है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण काफी अरसे से पीएचसी सालवां में 108 एंबुलेंस सुविधा की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं हो पाई है। उन्होंने तर्क दिया है कि अगर पीएचसी सालवां में 108 एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है तो इलाके की करीब आठ पंचायतों के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। इलाकावासियों ने प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य विभाग से जल्द पीएचसी सालवां में 108 एंबुलेंस सेवा की सुविधा उपलब्ध करवाकर राहत प्रदान करने की गुहार लगाई है।

You might also like